2016 बिहार टापर्स घोटाले में ईडी ने की कार्रवाई

पटना। शिक्षा के क्षेत्र में बिहार के पीछे बीते साल से लगा जिन्न पीछा नहीं छोड़ रहा है। इस साल भी परीक्षा संदेह के दायरे में है। वहीं प्रवर्तन निदेशालय ने पिछले साल हुए बिहार इंटर टॉपर्स घोटाले के मुख्य आरोपी बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष लालकेश्वर प्रसाद सिंह और उनकी पत्नी जदयू की पूर्व विधायक ऊषा सिंह सहित आठ लोगों के खिलाफ मनी लांड्रिंग का केस दर्ज किया है।

निदेशालय की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक इंटर टॉपर्स घोटाला मामले में इन लोगों पर हवाला के तहत केस दर्ज किया गया है। सूत्रों की माने तो 2016 में बिहार टॉपर घोटाले में चार कॉलेजों के प्राचार्य समेत आठ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है। लालकेश्वर एवं उनकी पत्नी ऊषा और पीए विकास चंद्रा सहित उनकी फरारी के दौरान लालकेश्वर व उनकी पत्नी को बनारस में शरण देने वाले प्रभात जायसवाल के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है।

इन आरोपियों पर गलत तरीके से अवैध संपत्ति अर्जित करने का आरोप लगा था। राज्य पुलिस ने इनके खिलाफ अवैध संपत्ति की जांच के लिए ईडी को मामला सौंप दिया था। ईडी ने जांच के बाद मामला दर्ज कर लिया है। ईडी करीब 50 करोड़ रुपये की संपत्ति की जांच कर रही है।