आर्थिक आंकड़े तय करेंगे शेयर बाजार की चाल

मुंबई। व्यापक आर्थिक आंकड़े, मॉनसूनी बारिश, वैश्विक संकेत, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (एफपीआई) और घरेलू संस्थागत निवेशक (डीआईआई), रुपये की चाल और कच्चे तेल की कीमतें मिलकर अगले सप्ताह बाजार की चाल तय करेंगे। इस सप्ताह मंगलवार को बकरीद के कारण शेयर बाजार बंद रहेंगे। सोमवार को जब बाजार खुलेंगे तो उसी दिन जुलाई के औद्योगिक आंकड़े जारी किए जाएंगे। जून में औद्योगिक उत्पादन में 2.1 फीसदी की बढ़ोतरी हुई थी। अगर जुलाई के आकंड़े में तेजी नजर आती है तो बाजार ऊपर चढ़ेगा।

share market

वहीं, मंगलवार को बाजार तो बंद रहेंगे, लेकिन उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) के आंकड़े जारी किए जाएंगे। सीपीआई जुलाई में 6.07 फीसदी थी, जबकि जून में यह 5.66 फीसदी थी। वहीं, थोक मूल्य सूचकांक जुलाई में 3.55 फीसदी और जून में 1.62 फीसदी थी। वहीं, भारतीय मौसम विभाग ने गुरुवार को जारी अपडेट में कहा कि इस साल देश भर में दीर्घकालिक औसत से 4 फीसदी कम बारिश हुई। कॉरपोरेट जगत में रविवार को कोल इंडिया अपनी पहली तिमाही के नतीजे जारी करेगी। तेल कंपनियों इसी सप्ताह महीने के मध्य में तेल कीमतों की समीक्षा करेगी। सोमवार को एल एंड टी टेक्नॉलजी सर्विसेज अपनी आईपीओ जारी करेगी। यह 12 सितंबर को खुलेगी और 15 सितंबर को बंद होगी।

इसके आईपीओ की कीमत 85–860 प्रति शेयर के प्राइस बैंड में रखी गई है। जीएनए एक्सलेस भी बुधवार को अपना आईपीओ जारी करेगी और इसके 63 लाख शेयर जारी किए जाएंगे जिसका प्राईस बैंड 205 से 207 रुपये प्रति शेयर है। जीएनए एक्सेल वाहनों के रियर एक्सेल का उत्पादन करती है। वहीं, वैश्विक बाजारों में बैंक ऑफ इंग्लैड गुरुवार को अपनी मौद्रिक नीति की घोषणा करेगी। अमेरिका में अटलांटा फेडरल रिजर्व बैंक के अध्यक्ष डेनिस लॉकहार्ट सोमवार नाबे सम्मेलन में भाषण देंगे, जिसमें वे बैंक की आगामी नीतियों का संकेत देंगे।