निकाय चुनाव की समीक्षा के दौरान मायावती ने कहा, गठबन्धन से गुरेज नहीं

लखनऊ। बसपा की राष्ट्रीय राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश में शहरी निकाय के लिये हो रहे चुनाव के सम्बंध में चल रही तैयारियों की गहन समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने कार्यकर्ताओं को विपक्षियों के हथकण्डे से होशियार रहने की नसीहत दी है। मायावती ने कहा कि भाजपा किसी भी स्तर से चुनाव जीतने के लिए साम, दाम, दण्ड भेद का प्रयोग कर सकती है। साथ ही उन्होंने 2019 के चुनाव में गठबन्धन करने की हामी भरी।

mayawati
mayawati

उनका कहना है कि सेक्यूलर पार्टियों के साथ गठबन्धन करके चुनाव लड़ने का सवाल है तो बीएसपी इसके खिलाफ नहीं बल्कि इसकी पक्षधर है, परन्तु सम्मानजनक तरीके से तथा सम्मानजनक सीटों के आधार पर ही गठबन्धन मन्जूर होगा। पिछले अनुभव के साथ-साथ वर्तमान का अनुभव काफी खराब व कड़वा रहा।

वहीं कांग्रेस पार्टी ने हिमाचल में 68 में से अपनी हारी हुई 10 सीट व गुजरात में 182 में से हारी हुई 25 सीट भी देने को तैयार नहीं हुई है, जो गठबन्धन के सम्बन्ध में इनकी नीयत को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि बसपा पूरी तरह से अम्बेडकरवादी सोच की पार्टी है तथा समाजवादी पार्टी व कांग्रेस आदि की तरह परिवारवादी पार्टी नहीं है और ना ही कभी बन सकती है।