नोटबंदी के दौरान बैंक में जमा हुए 1000 रुपये के नकली नोट

रूड़की। नोटबंदी के बाद पुराने 500 और 1000 रुपये के नोट को बैंकों में जमा करने के दौरान बैंक शाखा के स्तर पर हुई गड़बड़ियां उजागर होना शुरू हो गया है। ताज़ा मामला रुड़की से है जहां पंजाब नेशनल बैंक की मुख्य बीटीगंज शाखा के प्रबंधक के खिलाफ रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया के कानपुर संभाग के प्रबंधक की तरफ से 1000 रुपये के छत्तीस नकली नोट जमा करने के मामले सामने आया है।

आपको बता दें कि पंजाब नेशनल बैंक की रुड़की के बीटीगंज स्थित मुख्य शाखा चेस्ट शाखा है यानी इलाके की सभी पीएनबी शाखाएं नगदी यहीं जमा करती है और यही से प्राप्त करती है इसके बाद यहाँ से नगदी भारतीय रिज़र्व बैंक कानपुर को जाती है हमेशा की तरह नोटबंदी के दौरान भी यहां जमा होने वाली नगदी कानपुर भेजी गयी लेकिन जांच में आरबीआई कानपुर के अफसरों ने पाया कि की रुड़की पीएनबी से आये कैश में छत्तीस 1000-1000 रुपये के नोट नकली है जिसके तुरंत बाद आरबीआई कानपुर के मैनेजर ने एसएसपी हरिद्वार को नकली नोटों का सीलबंद लिफाफा और प्रबंधक के विरूद्ध एक तहरीर भेजी जिस पर रुड़की की गंगनहर पुलिस ने पीएनबी की मुख्य शाखा के प्रबंधक के खिलाफ सम्बंधित मामले में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

उत्तराखण्ड की तमाम छोटी-बड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

गौरतलब है कि रूड़की के पंजाब नेशनल बैंक का ये कोई पहला मामला नहीं है इससे पहले भी वर्ष 2013 में नकली नोट जमा करने का मामला प्रकाश में आ चुका है अब ये तो जांच के बाद ही साफ़ हो पायेगा की ताज़ा मामले में शाखा प्रबंधक ने जान बूझकर नकली नोट आरबीआई में जमा कराये या लापरवाही के चलते ऐसा हुआ बहरहाल नोटबंदी के दौरान कुछ बैंको के अफसरों की संदिग्ध गतिविधियों से भी इंकार नहीं किया है सकता।

 शकील अनवर, संवाददाता