आर्थिक तंगी के चलते युवक ने फांसी लगाकर दी जान

हरदोई। चुनावी मौसम में भले ही राजनीतिक पार्टियां देश से गरीबी और भ्रष्टाचार को समाप्त करने का दावा करती रहे लेकिन वास्तविकता में देखा जाए तो हालात कुछ और ही बयां कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश के हरदोई से प्राप्त हो रही खबरों के मुताबिक आर्थिक तंगी के चलते युवक ने अपने घर के कमरे अंदर फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली।

मामला संडीला कोतवाली के काजीपुर के मजरा सांक गांव का है जहां पर आर्थिक तंगी के चलते युवक ने अपने घर के कमरे अंदर फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। काजीपुर का रहने वाला 40 वर्षीय राजकुमार किसी तरह अपने परिवार का भरण-पोषण करता था, राजकुमार के चार पुत्रिया और दो पुत्र थे। उसकी आमदनी कम थी और खर्चे ज्यादा थे क्योकि परिवार बड़ा था,उसको अपनी बेटी की शादी की चिंता सताने लगी थी। वहीं राजकुमार की पत्नी भी मानसिक संतुलन से परेशान थी, ऐसे में वह परेशान रहता था जिसकी वजह से उसने अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली।

राजकुमार के मरने के बाद पूरे परिवार में कोहराम मच गया वही राजकुमार के बच्चों का रो रो कर बुरा हाल है। वहीं सरकार द्वारा बड़े बड़े दावे किये जाते हैं पर वों जमीनी हकिकत से दुर है। ऐसे में सवाल है कि जो लोग आर्थिक तंगी के कारण मर रहे है इनका जिम्मेदार कौन है।

 -आशीष कुमार सिंह