स्मोकिंग और गालियों के सीन के कारण सेंसर में फंसी ‘रंगून’

मुंबई। विशाल भारद्वाज की बाॅलीवुड फिल्म रंगून के सेंसर में फंसती दिख रही है। खबरों की मानें तो, सेंसर ने फिल्म में स्मोकिंग से लेकर गालियों तक के कई सीनों पर आपत्ति उठाई है और इनको कट करने का सुझाव दिया है, जिनको मानने के लिए विशाल भारद्वाज तैयार नहीं हैं। विशाल ने इस बारे में कहा कि ये फिल्म 1940 के बैकड्रॉप पर है, जिस दौर में सिगरेट पीना आम बात थी और इसे लेकर कोई कानून नहीं था। उस दौर की रिएल्टी को दर्शाने के लिए ये सीन रखे गए हैं।

इस तर्क को खारिज करते हुए सेंसर बोर्ड के चेयरमैन पहलाज निहलानी का कहना है कि अतीत में क्या होता था, ये बहुत मायने नहीं रखता, लेकिन इस दौर में स्मोकिंग, ड्रग्स और गालियों को बढ़ावा देने वाले सीनों को लेकर सेंसर लापरवाही नहीं रख सकता। पहलाज का कहना है कि निर्माता को इन कट्स के बारे में बता दिया गया है। अब निर्णय उनको लेना है। दूसरे विश्व युद्ध पर आधारित रंगून की प्रमुख भूमिकाओं में सैफ अली खान, कंगना और शाहिद कपूर हैं। ये फिल्म 24 फरवरी को रिलीज होनी है। अतीत में विशाल भारद्वाज की हैदर और ओंकारा फिल्मों को भी सेंसर में मुश्किलों का सामना करना पड़ा था।