डॉ. रविकांत: तंबाकू सेवन से दस में से आठ में कैंसर जैसी बीमारी के लक्षण

ऋषिकेश। अंतर्राष्ट्रीय तंबाकू निषेध दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान युवाओं को तंबाकू से होने वाले शारीरिक नुकसान के बारे में बताते हुए इससे मुक्ति का संकल्प दिलाया। व्यापार सभा ऋषिकेश में आयोजित इस कार्यक्रम के अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद्र अग्रवाल की अध्यक्षता के दौरान अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक डॉक्टर रविकांत तथा अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष नरेंद्र जीत सिंह बिंद्रा ने तंबाकू के सेवन से हो रही बीमारियों से अवगत कराया।

उन्होंने कहा कि आज देश में तंबाकू के सेवन से कैंसर हो रहा है, जिसके कारण दस में से आठ लोग इस बीमारी से पीड़ित होकर अकाल मौत मर रहे हैं। इसके लिए केंद्र व राज्य सरकार को विशेष अभियान चलाए जाने की आवश्यकता है।

उन्होंने कहा कि तंबाकू में ऐसा नशीला पदार्थ होता है जो कि शरीर के प्रत्येक अंग को प्रभावित करता है जिसका अधिक सेवन कैंसर का रूप ले लेता है। इसका सबसे अधिक प्रभाव गले, फेफड़े तथा पेट की बीमारियों पर होता है और धीरे-धीरे बड़े रोग के रूप में परिवर्तित हो जाता है।

इससे बचने के लिए युवाओं को जागरुक किए जाने की आवश्यकता है। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे उत्तराखंड विधानसभा के अध्यक्ष प्रेम चंद्र अग्रवाल ने वहां उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आज तंबाकू का सेवन युवाओं में बढ़ गया है लेकिन उन्हें इस से होने वाले दुष्प्रभाव की जानकारी नहीं है।

विधानसभा अध्यक्ष बनते ही सबसे पहले जब उन्होंने दीवारों को देखा तो सारी दीवारें तंबाकू व पानमसाले की पीक से गंदी हो रखी थी, जो कि उन्हें सभ्य समाज के लिए उचित नहीं लगा और उन्होंने सर्वप्रथम विधानसभा के अंदर तंबाकू के सेवन पर रोक लगाने का निर्णय लिया। जिसका परिणाम आज देखने को मिल रहा है कि जो दीवार गंदी रहती थी आज वह पूरी तरह साफ हैं। इस अवसर पर ताजेंद्र नेगी भाजपा मंडल अध्यक्ष सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित रहे।