एक साथ 2 सगी बहनों की जलकर संदिग्ध मौत, पुलिस गुत्थी को सुलझाने में विफल

हरदोई। एक तरफ जहां नवरात्र के इस पावन पर्व पर कन्याओं और महिलाओं को देवी का दर्जा दिया जाता है और उनको महत्व दिया जाता है वहीं दूसरी तरफ आज 2 सगी बहनों की संदिग्ध और दर्दनाक मौत का दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। हालांकि पुलिस और परिजनों के मुताबिक इस घटना को आत्महत्या का रूप दिया जा रहा है। मगर परिजनों की गैर मौजूदगी में हुआ ये हादसा और चार पाई पर मिला इन दोनों छात्राओं का जला हुआ शव इस प्रकरण को किसी और ही दिशा में मोड़ रहा है और पूरे मामले की संदिग्ध परिस्थिती बना रहा है। वहीं गांव वाले भी इस मामले पर कुछ भी बोलने से कतरा रहे हैं। पुलिस इन दोनों की मौत को संदिग्ध बता कर प्रथम दृष्टिया इस मामले को आत्म हत्या का मामला बता रही है।

Doubtful, death, 2 real, sisters, together, police, failed,solve, case,hardoi,student
death of 2 real sisters

घटना हरदोई जिले के टडियांवा थाना क्षेत्र के गुरसंडा गांव की है। जहां 2 सगी बहन पूजा 20 वर्ष छात्रा बीए द्वितीय वर्ष और कल्पना 19 वर्ष छात्रा इंटर पुत्री शैलेन्द्र कुमार धोभी की गुरुवार को संदिग्ध परिस्थितियों में जल कर मौत हो गई। दरअसल मामला गुरुवार शाम का है, जब ये दोनों बहने घर में अकेली थी और सभी परिजन अपने-अपने काम से गए हुए थे। जिसमे पिता गांव से बहार था और मां गांव में ही कहीं गई हुई थी तथा भाई स्कूल गया हुआ था। तभी शैलेन्द्र के घर से धुएं का निकलना शुरू हुआ। जिससे गांव वालों ने घर में जाकर देखा की 2 जले शव गंभीर अवस्था में पड़े हुए हैं और ये और कोई नहीं बल्कि गांव के शैलेन्द्र की ही 2 बेटियां हैं। तत्पश्चात पिता को खबर मिलते ही वो आया और उसके पैरों तले जमीन खिसक गई और पीड़ित मां का हाल ये है की उसको अभी तक होश नहीं आया है और वो अभी भी इस हादसे को मानने से इंकार कर रही है। जैसा की आप तस्वीरों में देख सकते है की किस तरह मां बेहोशी की हालत में पड़ी है। दोनों मृतिकाओं की मां वहीं मौके पर पहुंची पुलिस और फॉरेंसिक टीम ने जांच करना शुरू कर दिया और दोनों शवों का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

बताते चले की इन बहनों की मौत जब हुई तब घर में कोई नहीं था और गांव वालों की दबी जुबान से सुनने को आया की मृतिकाओं की बड़ी बहन का पति घर में आया था और सबमे कुछ अनबन भी हुई थी। मगर लड़की के पिता ने इस बात से साफ इंकार कर दिया। वहीं चार पाई पर पड़ी हुई इन दोनों की जाली हुई लाश देख कर ये नहीं प्रतीक हो रहा की ये आत्महत्या है क्योंकि जलने वाला व्यक्ति कभी भी किसी एक ही स्थान पर नहीं मरता वो झटपटाते हुए इधर-उधर भागने लगता है और इन दोनों का शव एक दुसरे के पास ही मिला। आखिर क्या है इन दोनों बहनों की मौत का कारण हत्या या आत्महत्या। ये अभी महज एक सवाल ही बना हुआ है और पुलिस की जांच पर टिका हुआ है। हकीकत से पर्दा पुलिस की जांच के बाद ही उठेगा। घटना की विधिवत जानकरी से पुलिस अधीक्षक ने अवगत कराया है।