दहेज न मिलने पर बीवी को घर से निकालकर दी तलाक़

हरदोई। तीन तलाक को लेकर सियासत गरमाई हुई है और इसी गरमाई हुई सियासत के बीच आय दिन तलाक़ के मामले ही सामने आ रहे है जब से प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन तलाक के खिलाफ कदम उठाया है तब से तीन तलाक से पीड़ित काफी संख्या में मामले सामने आना शुरू हो गए हैं। ऐसा ही एक मामला हरदोई पुलिस अधीक्षक के सामने आया जिसमें एक पीड़ित महिला रेहाना निवासी शहर कोतवाली क्षेत्र हरदोई पुलिस अधीक्षक के सामने अपना प्रार्थना पत्र लेकर पेश हुई।

बता दें कि तलाक पीड़ित मुस्लिम महिला रेहाना ने पुलिस अधीक्षक विपिन कुमार मिश्रा को अपने दिल की पीड़ा बताई और न्याय की गुहार लगाई तलाकशुदा महिला ने बताया कि उसका पति सगीर उसको एक बार जलाकर मारने की कोशिश भी कर चुका है। साथ ही दहेज की मांग करके उसके परिजनों का उत्पीड़न करता रहता है विरोध करने पर उसने तीन शब्द तलाक बोलकर उसको घर से निकाल दिया ,तलाक पीड़ित महिला दर-दर की ठोकर खाती घूम रही है|

पीड़िता का कहना है कि उसका निकाह साल 2009 में कोतवाली शहर इलाके के रहने वाले सगीर से हुआ था। अपाहिज बाप ने अपनी हैसियत के मुताबिक वो सब कुछ अपनी बेटी को दिया जो वो दे सकता था लेकिन शायद सगीर और उसके परिवार वालों की नियत के हिसाब से वो कम था। लिहाज़ा आये दिन सगीर कभी चैन कभी मोटरसाइकिल की मांग किया करता था। और मांग न पूरी होने पर रेहाना को प्रताड़ित किया करता था। इस बीच रेहाना अपने मायके अपने भाई की शादी में गयी थी। रेहना 5 माहिने के गर्भ से थी शादी में आये उसके शौहर सगीर ने उसे वही तलाक़ देकर उससे पल्ला झाड़ लिया अब पीड़िता दर-दर की ठोकरे खाती। अधिकारियों की चौखट पर न्याय की गुहार लगा रही है|

 आशीष सिंह, संवादाता