गृहमंत्री राजनाथ के बयान के बाद हटाए गए विवादित पोस्टर

मेरठ। कश्मीर में चल रही उपद्रवी घटनाओं के विरोध में मेरठ में उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना द्वारा लगाए गए पोस्टर को लेकर प्रशासन अलर्ट हो गया है। गृह मंत्री के बयान के बाद प्रशासन ने सबसे पहले पोस्टर उतरवा दिया। जिसके बाद अमित जानी पर मुकदमा भी कायम करवा दिया गया है और अब पुलिस और प्रशासन के अधिकारी कश्मीरी छात्रों को सुरक्षा मुहैया कराने पहुंच गए हैं।

जी हां यह नजारा मेरठ के सुभारती विश्वविद्यालय का है जहां बड़ी संख्या में कश्मीरी छात्र छात्राएं अलग-अलग कोर्सेज में पढ़ाई करते हैं। मेरठ में उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना द्वारा लगाए गए पोस्टर में सीधे तौर पर कश्मीरी लोगों को उत्तर प्रदेश छोड़ देने की धमकी दी गई थी। जिसके बाद से कश्मीरके लोगो के लिए मेरठ असुरक्षित हो गया था।

कश्मीर छात्रों को अपनी सुरक्षा को लेकर चिंता सता रही थी। लेकिन प्रशासन और पुलिस अधिकारियों के आने के बाद छात्रों ने राहत की सांस ली। छात्रों की माने तो कॉलेज कैंपस में केवल पढ़ाई करने के लिए आए हैं लेकिन इसके अलावा कहीं आने जाने पर उन्होंने लगाम लगा ली है। उधर पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों ने कॉलेज के आसपास एलआईयू तंत्र सक्रिय कर दिया है। साथ ही कुछ फोर्स भी बढ़ा दी है। इसके अलावा पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने छात्रों को अपने नंबर भी बांट दिए हैं उन्होंने कहा कि किसी भी तरह की असुरक्षा की भावना मन में ना लाइन साथी जल्द से जल्द अमित जानी की गिरफ्तारी कर ली जाएगी और उत्तरप्रदेश में कश्मीरी पूरी तरीके से सुरक्षित है।

 शानू भारती, संवाददाता