हार के साथ हुई धोनी का कप्तानी करियर

मुंबई। महेन्द्र सिंह धोनी की कप्तानी में आखिरी बार खेल रहे भारत-ए को इंग्लैंड के खिलाफ अभ्यास मैच में तीन विकेट से हार का सामना करना पड़ा। भारत-ए ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 5 विकेट पर 304 रन बनाए और इंग्लैंड को जीत के लिए 305 रन का लक्ष्य दिया। इंग्लैंड ने यह लक्ष्य सात विकेट के नुकसान पर हासिल कर लिया। बिलिंग्स ने शानदार 93 रन,जेसन रॉय ने 63,बटलर ने 46,डॉसन ने 41 और हेल्स ने 40 रन बनाए।

भारत की तरफ से कुलदीप यादव ने 5 विकेट लिए। जीत के लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की टीम ने बेहतरीन शुरुआत की। इंग्लैंड को पहला झटका कुलदीप यादव ने दिया और उन्होंने शानदार बल्लेबाजी कर रहे ओपनर जेसन रॉय को 62 रन पर कैच आउट करवाया। पहले विकेट के लिए रॉय और हेल्स के बीच 95 रन की साझेदारी हुई। इंग्लैंड को दूसरा झटका कुलदीप ने ही दिया। उन्होंने हेल्स को 40 रन पर कैच आउट करवाया।

कप्तान मोर्गन को चहल ने सिर्फ तीन रन पर धवन के हाथों कैच आउट करवा दिया। जोश बटकर को 46 रन पर कुलदीप यादव ने कैच आउट किया जबकि मोइन अली को एलबीडब्ल्यू आउट किया। मोइन कुलदीप के चौथे शिकार बने। इसके बाद कुलदीप ने जमकर खेल रहे डॉसन को खुद की ही गेंद पर 290 के कुल स्कोर पर कैच कर इंग्लैंड को छठा झटका दिया और मैच में पांच विकेट पूरे किए। डॉसन ने 41 रन बनाए।

इसके अगले ही ओवर में हार्दिक पांड्या ने 93 रन बनाकर खेल रहे बिलिंग्स को आउट कर इंग्लैंड को सातवां झटका दिया। बिलिंग्स ने शानदार 93 रन बनाए। इससे पहले टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरे भारत ‘ए’ की ओर से अंबाती रायडू ने शतक (100 रन रिटायर) शिखर धवन 63, युवराज सिंह 56 और कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने आतिशी 68 रन बनाए। धोनी ने क्रिस वोक्स के आखिरी ओवर में 23 रन बनाए। भारत-ए ने निर्धारित 50 ओवरों में 4 विकेट के नुकसान पर 304 रन बनाए।