धर्मेंद्र ने शोले की ‘मौसीजी’ के किरदार से उठाया पर्दा, खोले कई राज

मुंबई। बॉलीवुड हीमैन धर्मेंद्र ने अपनी जिंदगी और फिल्मी करियर के बारे में दिलचस्प खुलासे किए। सदाबहार फिल्म शोले के कुछ राज पर से धर्मेंद्र ने पर्दा उठाया। धर्मेंद्र ने बताया की शोले के लिए संवाद उन्होंने खुद लिखे थे और यहां तक की मौसीजी के किरदार की लाइन भी वही लिखते थे। धर्मेंद्र ने कहा कि रोमांस इमोशनल भाव है, लेकिन कॉमेडी करना मुश्किल है क्योंकि इसमें सही टाइमिंग की जरुरत है।

आज के फिल्मी दौर की बात करते हुए धर्मेंद ने अपने विचार रखे। धर्मेंद्र ने कहा कि आज कल के सितारे पैसे के लिए कुछ भी करने को तैयार हो जाते हैं। इंडस्ट्री मंडी बनकर रह गई है। देव आनंद में जो था वो किसी में नहीं है। मेरे लिए दिलीप कुमार प्रेरणा थे और मधुबाला उससे भी ज्यादा। मैनें पैसे कमाने के लिए कभी भी इंडस्ट्री ज्वॉइन नहीं की थी। मै लोगों के दिलों में जगह बनाना चाहता था।

बकौल धर्मेंद्र, मैं आज भी अपनी मिट्टी को नहीं भूला। मुझे लोगों से मोहब्बत है। अवार्ड पर बात करते हुए धर्मेंद्र ने कहा कि अवार्ड के लिए आपको शातिर होना पड़ेगा। कई हिट फिल्में देने के बावजूद मुझे कभी बेस्ट एक्टर का अवार्ड नहीं मिला, लेकिन फिल्मफेयर स्टार टैलेंट अवॉर्ड मिला था और बेस्ट एक्टर के लिए नॉमिनेट किया गया था। मेरे लिए अवार्ड ज्यादा मायने नहीं रखते, लोगों का प्यार ही बहुत है।