सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बावजूद देश में नहीं रुक रहे तीन तलाक के मामले

हैदराबाद। सुप्रीम कोर्ट द्वारा तीन तलाक को बैन किए जाने के बावजूद भी देश में तीन तलाक की घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही है। ताजा मामला तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद का है, जहां एक मुस्लिम महिला को उसके पति ने फोन पर तीन तलाक दे दिया। हैदराबाद की रहने वाली अतिया बेगम की शादी शेख सरदार मजहर से 25 दिनों पहले ही हुई थी, लेकिन अब उनके पति ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले कि अवहेलना करते हुए अतिया को फोन पर तीन तलाक दे दिया। वहीं पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने महिला के पति के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

अतिया ने बताया कि शादी से पहले वो मजहर को पैसे भी देती थी और दोनों एक दूसरे को साल 2006 से जानते थे। अतिया ने बताया कि उनकी शादी महज 25 दिन पहले 18 अक्टूबर 2017 को ही हुई थी,लेकिन निकाह के 25 दिन बाद ही उनके पति ने उन्हें फोन पर तीन तलाक दे दिया। अतिया ने बताया कि 13 नंवबर को मजहर ने फोन पर उसे तीन बार तलाक बोलकर तलाक दे दिया। बता दें कि अतिया शादी से पहले विदेश में नौकरी करती थी और मजहर को हर महीने उसके खर्चे के लिए पैसे देती थी। इसी के साथ निकाह का भी सारा खर्च अतिया ने ही उठाया था।

अतिया ने बताया कि वो साल 2013 से 2016 तक मजहर को 2 लाख रुपये से ज्यादा दे चुकी थी। अतिया का आरोप है कि शेख मज़हर पहले से शादीशुदा था। शादीशुदा होने की वजह से मज़हर अतिया के साथ नहीं रहना चाहता था। 13 नवंबर को तलाक के बाद अतिया ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई, पीड़ित अतिया की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू की। अतिया को ट्रिपल तलाक़ देने के बाद से शेख सरदार मज़हर फरार है। बताते चलें कि मुस्लिम महिलाओं की कड़ी तपस्य के बावजूद सुप्रीम कोर्ट ने इसी साल 22 अगस्त 2017 को तीन तलाक पर बैन लगा दिया था।