स्वामी प्रसाद मौर्या के बचाव में आए उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने रायबरेली में पांच युवकों की हत्या के मामले में अपनी ही सरकार के श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य का बचाव किया है। उन्होंने कहा कि मौर्य ने कोई गलत बयान नहीं दिया है। स्वामी से मेरी व्यक्तिगत बात हुई है। उन्होंने स्पष्ट कहा है कि जो भी अपराधी हैं।उसके साथ पुलिस दण्डनात्मक कार्यवाही करे। अपराधी चाहे जिस दल, सम्प्रदाय का हो वह दण्ड का पात्र है।

बता दें कि रविवार को डॉ. दिनेश शर्मा ने भाजपा मुख्यालय में जनसमस्याओं का निस्तारण करते हुए ये बातें कहीं। उन्होंने कहा कि मौर्या के बयान का कोई वीडियो नहीं है। अगर है तो जारी कारिये। ज्ञात हो कि श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने कुशीनगर में पूर्व के अपने बयान में रायबरेली में मारे गए युवकों को अपराधी ठहराया था। इस विवादित बयान के बाद विपक्षी पार्टियों ने भाजपा पर हमले तेज कर दिए। इस बयान से मामला गरमाने पर उप मुख्यमंत्री को खुद मौर्य के बचाव में उतरना पड़ा। डॉ. शर्मा ने कहा कि अपराधी पताल में भी छिपे होगें तो भी छोड़े नहीं जायेंगे।

वहीं डॉ़ शर्मा ने कहा कि प्राइवेट स्कूलों की फीस पर लगाम लगाने के लिए हमारी सरकार काम कर रही है। कुछ विद्यालय न्यायालय चले गये हैं। इसीलिए मामला लम्बित है। इस पर बहुत जल्द निर्णय लिया जायेगा। कानून-व्यवस्था को लेकर उन्होंने कहा कि हम लोग बिगड़ी व्यवस्था को ही ठीक करने में लगे हैं। बहुत जल्द कानून व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त दिखेगी। बाढ़ को लेकर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दे दिया है। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में काम चल रहा है। सोशल मीडिया पर अखिलेश के ज्यादा फलोअर होने पर शर्मा ने कहा, हमारे मुख्यमंत्री जमीन में काम करते हैं और जनता के बीच दिखते हैं। कुछ लोग सिर्फ हवाबाजी करते हैं।

साथ ही उप मुख्यमंत्री ने कहा कि योगी सरकार जनसरोकार को समर्पित है। आमजन की समस्याओं के निदान के लिए जिला स्तर से लेकर प्रदेश स्तर तक संगठन व सरकार दोनों स्तर पर निरंतर कार्य हो रहा है। जनसमस्याओं का निदान सरकार की प्राथमिकता है। पारदर्शी व्यवस्था देना तथा सुशासन हमारा लक्ष्य है।