गुरूग्राम के बाद देवरिया में हुई मौत के बाद स्कूलों की सुरक्षा पर उठे सवाल

नई दिल्ली। स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा के लिए जहां केन्द्र सरकार समिति गठित कर इसे सुधारने की बात कर रही है। वहीं रेयान इन्टरनेशनल स्कूल में 7 साल के छात्र प्रद्युम्न की हत्या का मामला गरम है तो यूपी के देवरिया में अब कक्षा 11 वीं की एक छात्रा की रहस्यमयी मौत के मामले में अब फिर स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा के मामले पर सवालिया निशान लग गया है। क्योंकि रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुई हत्या के बाद यूपी में भी स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर निर्देश जारी किए गए थे। इसके बाद हुई देवरिया में छात्रा की हत्या ने स्कूल में बच्चों की सुरक्षा के पुख्ता दावे पर प्रश्न चिन्ह लगा दिया है।

देवरिया शहर के मार्डन मॉन्टेसरी इंटर कॉलेज में कक्षा 11 वीं की छात्रा के साथ हुए इस हादसे ने लोगों को सकते में डाल दिया है। बताया जा रहा है कि कक्षा वॉसरूम करने के लिए स्कूल की तीसरी मंजिल पर गई थी। लेकिन कुछ देर बाद छात्रा को खून से लहूलुहान ग्राउंड फ्लोर पर पाया गया । जिसके बाद स्कूल प्रशासन ने उसे नजदीक के अस्पताल में दाखिल किया। लेकिन छात्रा की हालत नाजुक देख अस्पताल ने उसे गोरखपुर मेडिकल कॉलेज के लिए रेफर कर दिया था। लेकिन रास्ते में ही छात्रा ने दमतोड़ दिया। लड़की के पिता की माने तो रास्ते में लड़की ने कहा कि उसे धक्का दिया गया है। वह पूरी बात नहीं कर पाई इसके पहले उसने अपना दमतोड़ दिया। अब इस मामले में लड़की ने पिता की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

हांलाकि मृतक छात्रा के परिजनों का कहना है कि इस घटना की सूचना स्कूल प्रशासन ने नहीं दी बल्कि स्कूल के छात्र ने फोन कर सूचना दी। उन्होने कहा कि यह घटना सुबह की थी लेकिन उन्होने यह सूचना 3 बजे मिली।फिलहाल पुलिस ने अज्ञात लोगों पर मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस घटनास्थल की जांच कर सबूतों को जुटाने में लगी हुई है। हांलाकि सीसीटीवी से पुलिस को कोई फुटेज नहीं मिली है। बताया जा रहा है कि स्कूल का सीसीटीवी लम्बे समय से काम नहीं कर रहा है। यह घटना शहर के सबसे नामी स्कूल की है।