खुले में पेशाब करने से रोका तो पीट-पीट कर ले ली जान

दिल्ली। यूपी और दिल्ली अपराध की ऐेसी जगह है जहां क्राइम खत्म होने के बजाय और बढ़ता जाता है। दिल्ली में एक ऐसा ही मामला सामने आया है जहां 33 साल के ई-रिक्शा चालक रविंदर को दिल्ली यूनिवर्सिटी के छात्रों ने पीट-पीट कर जान से मार डाला। छात्रों ने चालक को सिर्फ इसलिए मार डाला क्योंकि उसने उन्हें खुले में पेशाब करने के लिए मना किया था। स्थानीय पुलिस के मुताबिक ये घटना बीते शनिवार को जीटीबी नगर मेट्रो स्टेशन के गेट नंबर चार के पास हुई।

बता दें कि बीते शुक्रवार को रिक्शा चालक ने दो युवकों को अपने ई-रिक्शा के बगल में खुले में पेशाब करने से मना किया था। उस वक्त दोनों ने रविंदर को अंजाम भुगतने की धमकी दी थी। इसके बाद दोनों 15-20 युवकों के साथ मोटरबाइक और ई-रिक्शा से आए और सवारी का इंतज़ार कर रहे रविंदर को तलाश कर पीटना शुरू कर दिया। रविंदर की मौत के 24 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस किसी को गिरफ़्तार नहीं कर सकी है।

साथ ही पुलिस के कहना है कि वो दिल्ली यूनिवर्सिटी के छात्रों की संलिप्ता के एंगल से मामले की जांच कर रही है। केंद्रीय शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू ने दुख जताते हुए ट्वीट किया कि दिल्ली में सार्वजनिक स्थान पर पेशाब करने से मना करने पर ई रिक्शा चालक की पीट-पीटकर हत्या की घटना दुखद है। वो स्वच्छ भारत अभियान को प्रमोट कर रहे थे।