हमें क्या खाना चाहिए ये दिल्ली नागपुर को बताने की जरूरत नहीं: केरल CM

केरल। केरल के सीएम ने पर्यावरण मंत्रालय द्वारा पूरे देश में मवेशियों की बिक्री और हत्या को रोकने के फैसले पर जमकर गुस्सा निकाला। केरल के सीएम पी. विजयन का कहना है कि हमारे खाने को लेकर दिल्ली-नागपुर हमें दिशा निर्देश न दें कि हमें क्या खाना चाहिए और क्या नहीं। केरल सरकार अपने राज्य की जनता को हर वो चीज़ खाने के लिए देगी जो उनको पसंद है। उनको सारी सुविधांए दी जाएंगी जिससे वो अपनी पसंद की हर वो चीज़ खा सके जो उन्हें पसंद है। उन्होंने कहा कि केरल के लोगों को दिल्ली या नागपुर के लोगों से जानने की जरूरत नहीं है कि उन्हें क्या खाना चाहिए। नागपुर से विजयन का इशारा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से है, जिसका मुख्यालय नागपुर में ही है।


बता दें कि केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ने बीते रविवार को प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर केंद्र के निर्णय का विरोध किया था। उन्होंने केंद्र सरकार और आरएसएस पर हमला करते हुए कहा कि राज्य के लोगों को नई दिल्ली या नागपुर से खान-पान की आदतों को लेकर सबक सीखने की जरूरत नहीं है। उन्हें अच्छे से पता है कि उन्हें क्या खाना है और क्या नहीं। स्थानीय प्रशासन के कटी जलील का कहना है कि केंद्र पशुओं की हत्या से निजात पाने के लिए सरकार नया कानून लाने के बारे में सोच रही है।

साथ ही इस बीच विपक्षी कांग्रेस नीत यूडीएफ ने प्रतिबंध के खिलाफ सोमवार को केरल में ‘काला दिवस’ मनाने का फैसला किया है। पुलिस ने युवक कांग्रेस के कार्यकर्ता रिजिल मुकुलटी और उसके सहयोगियों के खिलाफ बीते शनिवार को कन्नूर में खुलेआम जानवर काटने को लेकर मामला दर्ज किया है। केंद्र के प्रतिबंध के खिलाफ कांग्रेस और वामपंथी दलों द्वारा आयोजित पूरे राज्य में ‘बीफ फेस्‍ट’ के दौरान इस कृत्य को अंजाम दिया गया था।