केजरीवाल ने दो साल में लिया पहली बार मंत्रालय संभालने का फैसला

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पिछले दो सालों से लगातार विपक्ष के निशाने पर हैं। लेकिन इसी बीच खबर आ रही है कि केजरीवाल अब एक अहम मंत्रालय संभाल सकते हैं। सूत्रों का कहना है कि केजरीवाल दिल्ली सरकार में मंत्री राजेंद्र पाल गौतम से जल संसाधन मंत्रालय लेकर उसे खुद संभालेंगे। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पिछले दो सालों से लगातार विपक्ष के निशाने पर हैं। लेकिन इसी बीच खबर आ रही है कि केजरीवाल अब एक अहम मंत्रालय संभाल सकते हैं। सूत्रों का कहना है कि केजरीवाल दिल्ली सरकार में मंत्री राजेंद्र पाल गौतम से जल संसाधन मंत्रालय लेकर उसे खुद संभालेंगे। कोजरीवाल ने ये फैसला इस लिया कि बवाना उपचुनाव के दौरान राजधानी में अलग-अलग इलाकों में आने वाली शिकायते सबसे ज्यादा पानी की सप्लाई और सीवर लाइन से जूड़ी थी। इसी फेरबदल में सीवीर सफाई के दौरान कर्मतचारियों की जान भी चली गई है। दिल्ली सरकार ने कपिल मिश्रा को हटाकर राजेंद्र पाल गौतम को ये पद दिया गया था। लेकिन कुछ ही महीनों के अंदर उनसे ये पद वापस लिया जा रहा है। क्योंकि दिल्ली में पानी की सप्लाई और सीवर सफाई से लोग संतुष्ट नहीं हैं।

delhi, chief minister, arvind kejriwal, bjp, Rajendra pal gautam
delhi chief minister

बता दें कि दिल्ली सरकार में अधिकारियों के साथ मंत्रियों का बेहतर तालमेल ना होने से भी सरकार दिक्कतों से जूझ रही है। ऐसे में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अब खुद जल संसाधन मंत्रालय संभालेंगे। ताकि लोगों की समस्याओं का निवारण सहीं ढंग से करल सकें। गौरतलब है कि अपना पिछली 49 दिनों की सरकार में भी केजरीवाल ने जल संसाधन मंत्रालय अपने अधीन ही रखा था, लेकिन दूसरी पारी में दो साल तक उन्होने अपने अधीन कोई मंत्रालय नहीं रखा। बीजेपी ने इसके लिए कई बार केजरीवाल की आलोचना भी की।