दून शहर को अतिक्रमणमुक्त करने पर व्यापारियों ने किया विरोध

देहरादून। दून को अतिक्रमणमुक्त करने के लिए सरकार की कवायद का पहला चरण आज से शुरू हो गया है। अभियान को सुबह सात बजे से छह सेक्टर में एक साथ एक वक्त पर शुरु हुई। इस पर व्यापारियों ने विरोध प्रकट किया जिसको देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात भी किया गया था। छह सेक्टर में डीएम एसए मुरुगेशन के आदेश पर नौ मजिस्ट्रेट तैनात किए गए। बुधवार को प्रशासन ने चेतावनी की मुनादी कराई गयी थी।

लगभग सात किमी लंबे आइएसबीटी से घंटाघर मार्ग तक हर जगह अतिक्रमण पसरा हुआ है। व्यापारियों ने दुकानों को सड़क तक बढ़ा दिया है और साथ ही, ठेली और फड़ वालों ने सड़क पर अतिक्रमण किया हुआ है। इस रोड़ पर यातायात को सुगम बनाने के लिए कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने कमान संभाल ली है। प्रशासन की तरफ से अतिक्रमणकारियों को लगातार मोहलत दी गई थी। इससे प्रशासन के साथ शहरी विकास मंत्री की मंशा पर भी सवाल उठने लगे है।

चार बार मोहलत देने के बावजूद प्रशासन के आगे न बढ़ने पर मंगलवार रात मंत्री कौशिक ने जिलाधिकारी समेत और विभागों के साथ बैठक की और खरीखोटी सुनाई। साथ ही, तत्काल अभियान चलाने को कहा। आखिरकार प्रशासन ने गुरुवार सुबह से महाभियान शुरू कर दिया था।