वेतन न मिलने पर सफाईकर्मियों की हड़ताल छठे दिन भी जारी

नई दिल्ली। वेतन न मिलने से नाराज पूर्वी दिल्ली नगर निगम के सफाई कर्मचारियों की हड़ताल छठे दिन भी जारी है। सफाईकर्मियों ने मंगलवार को त्रिलोकपुरी विधायक राजू ढिंगन के घर के पास कूड़ा फेंका है। इस हड़ताल से सड़कों पर कूड़े के ढेर लग गए हैं। इन कर्मचारियों ने बताया कि उन्हें पिछले तीन महीनों से वेतन नहीं मिला है। बता दें कि दिल्ली में इस हड़ताल के चलते पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने 119 करोड़ रूपए का फंड जारी किया है। पिछले पांच दिन से पूर्वी दिल्ली नगर निगम में हड़ताल कर रहे सफाई कर्मचारियों ने सोमवार को उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से मुलाकात भी की थी। इसके बावजूद काेई हल नहीं निकल पाया। वहीं अब इस हड़ताल में उत्तरी दिल्ली नगर के सफाई कर्मचारी भी शामिल हो रहे हैं।

पूर्वी निगम की महापौर सत्या शर्मा ने कहा कि हम हड़ताल को खत्म कराने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने दिल्ली सरकार पर निगम के फंड को लेकर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार जानबूझ कर निगम में आर्थिक संकट पैदा कर रही है। इस बाबत दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने निगम के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि सरकार निगम को पर्याप्त फंड जारी कर रही है। उन्होंने निगम को पूरी तरह से वित्तीय अनियमितता और भ्रष्टाचार का शिकार करार दिया है। जहां साल 2013 में 399 करोड़ का बजट था, वहीं साल 2013-14 में 414 करोड़ का था। वर्ष 2015-2016 में 702 करोड़ का बजट था| साथ ही बिना किस्त काटे हर साल नॉन प्लान लोन भी दिया गया लेकिन नगर निगम में भरपूर भ्रष्टाचार हो रहा है| इसलिए निगम कर्मचारियों को पैसा नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने दावा किया कि जब से केजरीवाल सरकार सत्ता में आई है, तब से दिल्ली सरकार ने नगर निगम में लोन का पैसा नहीं काटा है। निगर निगम को टैक्स कलेक्शन बढ़ाना चाहिए।

दरअसल सफाई कर्मचारियों के 5 से 6 यूनियन हे, इनमे से भी इंटक को छोड़ दे तो किसी संगठन के पास 100 कर्मचारी नहीं जुड़े हैं। इनमे से आप समर्थित सफाई कर्मचारी संगठन है जिन्होंने सोमवार को दिल्ली सरकार द्वारा फंड जारी होने के बाद अपनी हड़ताल खत्म कर दी है। वहीं संयुक्त मोर्चा मंगलवार को भी हड़ताल जिसमें तीनों निगमों के 4500 से अधिक कर्मचारी जुड़े हैं जिसमे से 1500पूर्वी निगम के सफाई कर्मचारी है। ये संगठन मंगलवार को भी हड़ताल पर है और विधायक राजू धिंगान के ऑफिस पर कूड़ा डालने का काम इसी संगठन ने किया। आर आर डिपो पर सफाई कर्मचारी इंटक यूनियन वालों को खोज रही है और उसके कार्यकर्ता गायब हैं। इन का कहना है कि इन्हें स्थाई समाधान चाहिए। इस तरह की समस्या से ये कर्मचारी पिछले काफी समय से जूझ रहे हैं।