अमेरिका और नार्थ कोरिया के बीच तनाव और गहराया

नई दिल्ली। उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच उठा तनाव कम होने का काम नही ले रहा है। अब अमेरिका ने अपना दूसरा जंगी जहाज USS रोनाल्ड रीगन कोरियाई प्रायद्वीप के लिए रवाना किया है। जो कि UDD कार्ल विंसन के साथ संयुक्त अभ्यास करेगा। ये बात अमेरिकी सुरक्षा अधिकारी कर रहे हैं। लेकिन जानकारों की माने तो अमेरिका ने उत्तर कोरिया की ओर से हाल में हुए मिसाइल परीक्षण के बाद यह कदम उठाया है। हांलाकि इससे दोनों देशों के बीच सैन्य टकराव के हालात पैदा हो सकते हैं।

सूत्रों की माने तो अमेरिका लगातार उत्तर कोरिया पर उसके परमाणु और मिसाइल कार्यक्रमों को रोकने के लिए एक सिकंजा कसना चाह रहा है। इससे पहले उत्तर कोरिया और अमेरिका की तरफ से वार्ता शुरू करने की बात कही गई थी। लेकिन दोनों देश अपनी अपनी शर्तों पर वार्ता करना चाह रहे थे। जिसके बाद अब इनके बीच एक उम्मीद की किरण दिखने लगी है।

हांलाकि उत्तर कोरिया ने ये साफ कहा है कि अगर अमेरिका ने उसे उकसाने की कोशिश की तो वह उस पर परमाणु हमला करने से नहीं चूकने वाला है। उधर अमेरिका परमाणु हमले के खतरे को देखते हुए उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम को रोकने का हर सम्भव प्रयास कर रहा है। लेकिन कोरिया ने अमेरिका समेत समस्त वैश्विक समुदाय की चेतावनी को दरकिनार कर दिया है। वह लगातार परीक्षण कर रहा है। इस मामले में खुद अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने उत्तर कोरिया को धमकी दी थी।