उत्तराखंड सरकार को व्यापारियों का फरमान, सुविधा नहीं तो टैक्स नही

गोपेश्वर। चमोली जिले के विकास खंड पोखरी के मोहनखाल के व्यापारियों ने जिला पंचायत चमोली को टैक्स न देने की बात कही है। उन्होंने कहा कि जब उन्हें जिला पंचायत द्वारा कोई सुविधा नहीं मिल रही है तो जिला पंचायत उनसे किस बात का टैक्स वसूल रही है। व्यापारियों ने जिला पंचायत कर्मचारियों के सम्मुख अपना विरोध प्रदर्शन करते हुए टैक्स का विरोध किया है।

Decision merchant
Decision merchant

सोमवार को हुए प्रदर्शन में व्यापारियों का विरोध मुखर रहा। जिला पंचायत द्वारा ग्रामीण क्षेत्र के छोटे बाजारों के व्यापारियों से टैक्स वसूलती है और बदले में उन्हें बाजार में शौचालय, सफाई, प्रतिक्षालय आदि की सुविधा दी जाती है। लेकिन मोहनखाल बाजार में ऐसी कोई सुविधा न होने पर व्यापारियों ने जिला पंचायत द्वारा वसूले जाने वाले टैक्स का विरोध किया है। मोहनखाल के व्यवसायी देवी प्रसाद, दीपक थपलियाल, कुंवर सिंह, अमर सिंह, जसपाल, माहेश्वरी देवी का कहना है कि जिला पंचायत से उनसे टैक्स तो वसूला जा रहा है, लेकिन बाजार में एक कूड़ेदान तक की व्यवस्था की गई है। ऐसे में जिला पंचायत का टैक्स वसूल करना मुनासिब नहीं है।

साथ ही उनका यह भी कहना था कि क्षेत्रीय विधायक महेंद्र भट्ट व जिला पंचायत उपाध्यक्ष लखपत सिंह बुटोला का गृह क्षेत्र होने के बाद भी यहां पर सुविधाओं का अभाव है। जिला पंचायत अध्यक्ष मुन्नी देवी शाह का कहना है कि जल्द ही मोहन खाल में जिला पंचायत द्वारा दी जाने वाली सुविधाएं व्यापारियों को मुहैया करवा दी जायेगी।