पिता के अपमान पर बेटी ने उठाया ऐसा कदम, देखते रह गए लोग

वैशाली। दुल्हन ने पिता के साथ बत्तमीजी किए जाने पर शादी से इनकार कर दिया। दुल्हन के शादी से मना किए जाने के बाद दुल्हा और उसके पिता को बंधक बना लिया गया। दरासल शादी में खाने के इंतेजाम को लेकर दुल्हा नाराज हो गया। जिसके बाद दुल्हें ने मंडप में ही दुल्हन के भाई का कालर पकड़ लिया और उसके साथ गाली गलौज करने लगा। जिस पर दुल्हन नाराज हो गई और मंडप छोड़कर उठ खड़ी हो गई और शादी से इनकार कर दिया।

बता दें कि बारात जारंग रामपुर गोरौल थाने के पीरापुर बभनटोली से आयी थी। इस घटना की चारों और चर्चा की जा रही है। खबर है कि बारात में आए दिल्हे का भाई और उसके साथ आए कुछ लोग दुल्हन के परिवार से बत्तमीजी कर रहे थे। दुल्हन को ये बात अच्छी नहीं लगी जिसपर उसने नाराज होकर शादी से ही इनकार कर दिया। उसके बाद रिश्तेदारों ने दुल्हन को मनाने की बहुत कोशिश की लेकिन वो नहीं मानी।

घटना वैशाली जिले के पटेड़ी बेलसर गांव की है जहां बारात तो आई लेकिन दुल्हे को बिना दुल्हन के ही वापस जाना पड़ा। बीते बुधवार को गांव के ही वीरचंद्र की बेटी की शादी वौशाली निवासी कंतलाल सिंह के बेटे से तय हुई थी। शादी का सारी रस्मों के बाद जब बारात सजधज कर दरवाजे पर पहुंची तो बारात का अच्छे से स्वागत किया गया। शादी में सबकुछ ठीक चल रहा था लेकिन अचानक बारात के खाने के इंतेजाम को लेकर बाराती आपत्ति जताने लगे। बात ज्यादा बढ़ जाने के कारण दुल्हे और दुल्हन के भाई के बीच हाथापाई हो गई। इतना ही नहीं दुल्हे के शह मिलने पर लड़के वालों ने गाली देनी शुरू कर दी।

बारत में लड़ाई का माहौल देखकर दुल्हन को धक्का लगा। जिसके बाद वो मंडप से उठकर चली गई और शादी करने से मना करने से मना कर दिया। दुल्हन द्वारा शादी से मना किए जाने के बाद बारात में हलचल मंच गई और सभी दुल्हन को मनाने लगे लेकिन वो नहीं मानी उसका कहना था कि दुल्हें का बरताव उसे बिलकुल पसंद नहीं आया वो अपनी ही शादी में गुंडे जैसा व्यवहार कर रहा था। बहुत देर तक गांव वाले दुल्हन को मनाने की कोशिश करते रहे। लेकिन केशिश नाकाम रही। उसके बाद दुल्हन के घरवालों ने बारातियों से अपने दिए हुए तोहफे मांगने शुरू कर दिए। वहीं पुलिस का कहना है कि मामला गांव के स्तर पर सुलझाने की कोशिश की जा रही है। अभी तक मामले की कोई लिखित शिकायत दर्ज नहीं की गई है।