आंध्र, तमिलनाडु तट की ओर बढ़ा भीषण चक्रवाती तूफान ‘वर्धा’ 

विजयवाड़ा| बंगाल की खाड़ी के ऊपर बने चक्रवाती तूफान वर्धा ने भीषण रूप ले लिया है, जिसके चलते प्रशासन ने रविवार को आंध्र प्रदेश और करीबी तमिलनाडु में अलर्ट जारी कर दिया है। भारतीय मौसम विभाग के एक अधिकारी ने रविवार को कहा कि तूफान के सोमवार दोपहर तक उत्तरी तमिलनाडु और दक्षिणी आंध्र प्रदेश तट पार करने की संभावना है।आईएमडी के मुताबिक, “संभावना है कि तूफान पश्चिमी-दक्षिणपूर्व की ओर बढ़ेगा और रविवार शाम तक इसकी तीव्रता बनी रहेगी। उसके बाद धीरे-धीरे यह कमजोर होकर आंध्र प्रदेश के दक्षिणी तट और करीबी तमिलनाडु के उत्तरी तट की ओर बढ़ेगा।

cyclon

मौसम विभाग ने रविवार शाम से अगले 36 घंटे तक कई स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश और दक्षिणी आंध्र तट तथा उत्तर तटीय तमिलनाडु में भारी से लेकर काफी भारी बारिश की संभावना व्यक्त की है। उत्तर तटीय आंध्र में हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। रविवार से तट के पास 40-50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने का अनुमान है। हवाओं की रफ्तार 70-80 किलोमीटर प्रति घंटे तक भी पहुंच सकती है, जिसके कारण फूस की झोपड़ियों, बिजली और संचार लाइनों, सड़कों और फसलों को क्षति पहुंचने की आशंका है।

प्रशासन ने आंध्र तट के सभी बंदरगाहों पर तीसरा चेतावनी संकेत फहराया है। साथ ही सभी मछुआरों को अगले 48 घंटों तक समुद्र में न उतरने की सलाह दी गई है। कृष्णा, गुंटूर, प्रकाशम और नेल्लोर में जिला प्रशासन को सभी ऐहतियाती कदम उठाने के लिए अलर्ट जारी किया गया है। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने संयुक्त अरब अमीरात और कुवैत की अपनी यात्रा रद्द कर दी है। वह लगातार स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। नायडू ने जानमाल की क्षति रोकने के लिए चार जिलों में चार वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों को तैनात किया है। राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल की दो टीमें नेल्लोर जिले में पहुंच गई हैं।