नाजायज सम्बन्धों के चलते काटा गुप्तांग

गोण्डा। अवैध प्रैक्टिस कर रहे एक झोलाछाप डॉक्टर की आशनाई व नाज़ायज़ संबंधों के कारण उसके गुप्तांग व हाथों को काटकर अलग कर देने की घटना उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में प्रकाश में आयी है। इस घटना से जंहा पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गयी। वंही चिकित्सा के नाम पर अवैध प्रेक्टिस करने वाले झोलाछाप डॉक्टरों के कुकर्मों पर से भी पर्दा हट गया।

sex_samband_gonda

घटना में विपक्षियों ने डॉक्टर के हाथ के पंजे काटकर अलग कर दिए और उसका प्राइवेट पार्ट भी काट डाला। यंही नहीं हमलावरों ने डॉक्टर के सर व चेहरे पर भी कई वार करके खून से लथपथ कर दिया और उसकी बाइक आग के हवाले कर फरार हो गए। जिले के धानेपुर थानाक्षेत्र के भरतगंज में भैंसह्वा मार्ग पर घाटी इस घटना के पीछे नाज़ायज़ संबंधों को ही मुख्य कारण बतलाया जा रहा है।

दिल दहला देने वाली निर्दयतापूर्ण घटी इस घटना की सूचना पर पंहुची पुलिस ने बुरी तरह घायल अवैध डॉक्टर को तुरंत जिला चिकित्सालय भेज दिया जंहा से नाज़ुक स्थिति देख चिकित्सकों ने इसे लखनऊ रेफर कर दिया। घायल डॉक्टर के परिजनों की शिकायत पर हरकत में आयी पुलिस मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर गहन पूछताछ में जुट गयी।

झाड़ियों में बुरी तरह खून से लथपथ इस व्यक्ति की यह हालत इसके कुकर्मों की सजा के रूप में हुयी है। स्वास्थ्य विभाग व प्रशासन की भ्रष्ट कार्यशैली के चलते जिले भर में अवैध प्रेक्टिस करने वाले हज़ारों झोलाछाप डॉक्टरों में से यह भी एक अवैध झोलाछाप डॉक्टर है। धानेपुर थानाक्षेत्र के तिर्लोकपुर गांव में खनवापुर मजरा निवासी यह झोलाछाप डॉक्टर सुरेंद्र शर्मा पृथ्वीपालगंजग्रांट के मजरा लालडीह में अवैध रूप से झोलाछाप डॉक्टरी की दूकान चलाता है।

अवैध प्रेक्टिस के दौरान ही सुरेंद्र के गांव की ही एक विवाहित महिला से नाज़ायज़ सम्बन्ध हो गए। जिले के एएसपी सुनील सिंह साफ़ साफ़ बंया कर रहे हैं कि तीन सालों तक चले विवाहिता से अवैध संबंधों का परिजनों ने विरोध भी किया। किन्तु सुरेंद्र शर्मा नाम के इस अवैध चिकित्सक के न मानने के चलते इसके कुकर्मों की सजा आज इसको बड़े ही निर्दयतापूर्ण हमले के रूप में मिली।

मौका देखकर परिजनों ने इसे घेरकर धारदार हथियारों से इस पर कई हमले किये। जिससे ये पूरी तरह खून से लथपथ हो गया। हमलावर बदले की आग में जलकर इस तरह हैवान बन चुके थे की उन्होंने जंहा इसके हाथ के पंजे को काटकर अगल कर दिया वंही इसका गुप्तांग भी काट डाला। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सपा सरकार में कानून का भय ख़त्म हो जाने व अपराध के चरम पर होने का इससे बड़ा शायद कोई प्रमाण नहीं होगा। जबकि सूबे की सरकार में मुख्यमंत्री से लेकर जिले केबिनेट मंत्री पंडित सिंह तक कानून का होने का ढिंढोरा पीटते हये खुद की पीठ अपने ही हाथों से थपथपाते हुए फीलगुड कर रहे हैं>

rp_gondaविशाल सिंह, संवाददाता