मसूरी के पर्यटन पर पड़ा नोटबंदी का असर

मसूरी। पूरी दुनिया में पहाड़ों की रानी के नाम से मशहूर मसूरी का उद्योग इस बार कम होने के आसार लगाए जा रहे है। दरअसल पूरे देश में नोटबंदी के बाद एक मंदी सी आ गई है, जिसके कारण इस बार पर्यटन नगरी में पर्यटकों की संख्या काफी कम हो गई है। नए साल पर भी शहर में कोई खास उत्साह रंग देखने को नहीं मिल रहा है।

masuri

पिछले साल की बात इन्हीं दिनों क्रिसमस और नए साल पर 80 फीसदी से ज्यादा होटल बुक किए जा चुके थे लेकिन इस बार महज 20 फीसदी ही बुकिंग हुई है। होटल व्यवसाय से जुड़े मसूरी ट्रेडर्स रजत अग्रवाल का कहना है कि नोटबंदी के कारण शहर के होटलों की बुकिंग में 50से 60 फीसदी कमी देखने को मिल रही है। उन्होंने यह भी बताया कि इस बार होटलों की तरफ से कई आकर्षक ऑफर दिए गए है इसके बाबजूद कोई पर्यटक शहर की ओर आकर्षित नहीं हो रहा है।

पर्यटकों की कमी के कारण स्थानीय लोग काफी परेशान हो रहे हैं। बता दें कि मसूरी के लोग पर्यटकों पर ही निर्भर है। यहां आने वाले पर्यटकों के कारण ही शहर के लोगों की रोजी-रोटी चलती है।