भाजपा विधायक का बयान, खनन पर अंकुश लगाना गलत

बलिया। बात अवैध खनन की हो या फिर दूसरे प्रांतों से खनन कर लाये जाने वाले बालू की, जहां कोर्ट और शासन के सख्त आदेश के बाद जिला प्रशासन अवैध खनन पर लगाम लगाने में लगा है, वहीं बलिया के द्वाबा विधानसभा के भाजपा विधायक सुरेन्द्र सिंह  ने कोर्ट के फैसले को गलत करार देते हुए न्यायाधीशों को खनन को समझने की सलाह दे डाली है।
 
बलिया के कलेक्ट्रट सभागार में डिजिधन मेले में जहां भाजपा सांसद भारत सिंह सहित भाजपा के सभी विधायक मौजूद रहे, इस दौरान  द्वाबा विधानसभा के भाजपा विधायक सुरेन्द्र सिंह ने यूपी में अवैध खनन पर हो रही कार्यवाई को गलत करार देते हुए कोर्ट के फैसले पर सवाल खड़ा कर दिया, यही नहीं  फैसला देने वाले न्यायधीशों को चुनौती देते हुए कहा की यूपी  में अवैध खनन होता ही नहीं है ये तो उत्तराखंड में होता है।
दरसअल  चुनाव के दौरान भाजपा ने अवैध खनन को भी बड़ा मुद्दा बनाया था लिहाज़ा योगी सरकार के बनते ही शासन के फरमान पर जिलाधिकारी ने एक टीम का गठन किया और पिछले चार दिनों के भीतर ही बिहार से आने वाले लाल बालू की दो दर्जन से ज्यादा ट्रकों को जब्त कर लिया है। ऐसे में विधायक सुरेंद्र सिंह का कहना है की बालू आम आदमी की ज़रूरत है और बिना नदी से बालू निकाले ये कमी पूरी नहीं हो सकती लिहाज़ा कोर्ट में फैसला देने वाले न्यायाधीशों को यूपी में अवैध खनन की परिभाषा दोबारा लिखनी होगी और उन्हें इसके लिए यूपी के गांवों में आना चाहिए।
सवाल किया गया की जब अवैध खनन आपकी नज़र में गलत नहीं है तो पिछली सरकार में खनन घोटाले में फंसे गायत्री प्रजापति पर भाजपा ने आरोप क्यों लगाया तो विधायक जी का कहना है की गायत्री प्रजापती ने थोड़ा ज्यादा खनन कर दिया था।
 -संजय कुमार तिवारी, बलिया