स्टेशन मास्टर की दबंगई, युवक-युवती को कमरे में बंद करके पीटा

हरदोई। एक तरफ रेल मंत्री सुरेश प्रभु रेलवे के ढांचे में सुधार करने की कोशिश करने में लगे है तो दूसरी तरफ स्टेशन मास्टर की खुलेआम गुंडागर्दी सामने आयी है। युवक का आरोप है उसको और उसकी बहन कमरे में बंद करके पीटा को भी पीट दिया।

मामला हरदोई के शाहाबाद आंझी स्टेशन का है। आंझी रेलवे स्टेशन के स्टेशन मास्टर मुस्तफा की खुलेआम गुंडागर्दी सर चढ़ के बोल रही है अपने पद की गर्मी इतनी है कि आम जनता को खुलेआम धमका रहे। सोनी देवी पुत्री राम चंद्र 26 वर्ष और उपदेश कुमार पुत्र रामचन्द्र दोनों भाई बहन है दोनों लोग हरदोई जाने के लिए स्टेशन आये टिकेट विंडो के पास टिकेट ले रहे तभी सोनी देवी की छोटी बच्ची ने मुमफली के छिक्कल वहां फेंक दिए जिससे स्टेशन मास्टर इतने नाराज हो गए की उन्होंने सोनी देवी और उपदेश को बुलाकर अपने चैम्बर मे धमकाना शुरू कर दिया बात यही खत्म हुई हद जब हो गयी जब स्टेशन मास्टर मुस्तफा ने सोनी देवी और उपदेश को अपने चैम्बर मे बंद कर के बुरी तरह से मारपीट की जिसके कारण पीड़ित उपदेश के सर में चोट भी लगी।

घटना की जानकारी देते हुए सोनी देवी व उपदेश ने बताया कि स्टेशन मास्टर मुस्तफा ने उन दोनों को कमरे मे बंद कर के मारा उर उपदेश को उठाकर जमीन मे भी पटक दिया यह नहीं स्टेशन मास्टर की गुंडागर्दी खत्म हुए उसने छोटी बच्ची को भी नहीं छोड़ा उससे भी फेक दिया।पीड़ित सोनी देवी व उपदेश ने बताया कि इस मारपीट मे उसका लावा का फोन और सोनी देवी की सोने का पैंडल गिर गया।जब स्टेशन मास्टर से बात की गयी तो उसकी गुंडागर्दी साफ साफ चहेरे से दिख रही थी। स्टेशन मास्टर मुस्तफा ने बताया कि गन्दगी फैला रहे थे तभी उनको बुला कर धमाका रहे थे कार्यबाही करने का कोई विचार नहीं था भोकाल दिखा रहे थे। डायल 100 को सुचना मिलने पर मौके पर पहोंची टीम ने बताया कि यह मामला उनके कार्ये क्षेत्र का नहीं है जी आर.पी. को सुचना दे दी गयी है।जी आर पी पुलिस ने दोनों से पूछतांछ करने के बाद हरदोई ले कर गई है।यह घटना साफ साफ रेलवे की कार्येशैली पर सवालिया निशान है। क्या पीड़ित को इन्साफ मिलेगा या रेलवे का मामला हवा मे रहेगा।
भारत खबर