अजमेर में अपराधी ने किया आत्मसमर्पण : राजस्थान

अजमेर। पुलिस ने अजमेर में बढ़ रही अपराधिक घटनाओं पर लगाम कसते हुए , 32 सालों से फरार इनामी बदमाश अजय शर्मा उर्फ अजय नाई को पुलिस ने गिरफ्तार किया। जिसपर अजमेर पुलिस ने लूट ,अपहरण, हत्या , नकबजनी के साथ कुल 14 मामलों में केस दर्ज थे। जिसमें अजय 32 सालों से पुलिस के साथ आंखमिचौली खेल रहा था । अजय नें अजमेर में आत्मसपर्ण करने के बाद अदालत नें आरोपी को न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश दिए है । आरोपी को पकड़वाने पर राजस्थान पुलिस नें 10 हजार और अजमेर पुलिस ने 5 हजार रुपये के इनाम की घोषणा किए थे ।

अजय के खिलाफ अपराध कि कुल 14 संगीन घटनाओं मे पुलिस के पास रिपोर्ट दर्ज है । पुलिस ने कहा कि अजय के खिलाफ अजमेर के श्रीनगर ,मांगलियावास व अलवरगेट पुलिस थानों में कई बड़े संगिन घटनांओ की मुकदमें दर्ज थे। और यह खुले में डकैती करता था जिससे राजस्थान से लेकर उत्तर प्रदेश तक इसका आतंक था । अजय इसके अलावा राजस्थान कि चार जिलों में भी अपराधिक वारदातों को अंजाम दिया था । राजस्थान की चारों जिलों कि पुलिस नें एक-एक टीम गठीत कर इसके पीछे पकड़ने के लिए लगा दिया, और सभी टीमें अजय की तलाश 32 सालों से कर रही थी। हालांकि पुलिस को इसकी सफलता अब जाकर लगी है । राजेस्थान पुलिस की कड़ी मेहनत की वजह से ही अजय की गिरफ्तारी हो सकी है।

आरोपी की गिरफ्तारी के लिए अजमेर पुलिस नें जबलपुर , नर्सिंहपुर, नैनपुर मध्यप्रदेश तथा नोएडा उत्तर प्रदेश के कई ठिकानों पर दबिश दी पर आरोपी की गिरफ्तारी हो ना सकी वह हमेशा ही पुलिस की आंखो पर धूल झोककर फरार हो जाता था । लेकिन जब पुलिस नें कड़ाई से दबिश देना शुरु किया तो आरोपी नें अजमेर की एससीएसटी अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया, जिसके बाद अदालत नें आरोपी को न्यायिक अभिरक्षा में भेजनें के आदेश दिए ।