निगमकर्मी हड़ताल पर, पूर्वी दिल्ली में कूड़े के लगे ढेर

नई दिल्ली। वेतन न मिलने से नाराज पूर्वी दिल्ली नगर निगम के सफाई कर्मचारियों की हड़ताल से दिल्ली की हालत बेहद खराब है। हड़ताल का चौथा दिन होने के कारण सड़को पर कूड़े के ढेर लगे हुए हैं। पूर्वी निगम कर्मियों ने बताया कि उन्हें पिछले तीन महीने से वेतन नहीं मिला है। ऐसे में उन्हें घर खर्च चलाने में कठिनाई हो रही है। उन्होंने कहा कि हम लोगों को परेशान नहीं करना चाहते, लेकिन पेट की आग के कारण हमें ऐसा करने के लिए मजबूर होना पड़ा है। उन्होंने कहा कि निगम आयुक्त और अधिकारी दिल्ली सरकार से फंड नहीं मिलने का हवाला देकर अपना पल्ला झाड़ रहे हैं। ऐसे में हम क्या करें और कहां जाएं, यह समझ नहीं आ रहा। हमारी समस्या जस की तस बनी हुई है| ऐसे में हमारे पास हड़ताल के अलावा कोई विकल्प नहीं है।

सफाई कर्मचारियों ने आज रविवार को आम आदमी पार्टी के स्थानीय विधायकों के दफ्तर और अन्य स्थानों पर कूड़ा फेंककर प्रदर्शन भी किया गया। इसके कारण पूर्वी दिल्ली के कृष्णा नगर, लक्ष्मी नगर और शास्त्री पार्क सहित तमाम इलाकों में कूड़े के ढेर लगे हैं। गंदगी के कारण इलाके में बदबू से स्थानीय लोगों का बुरा हाल है| वहीं वाहन चालकों को आवागमन में तकलीफ हो रही है। पूर्वी निगम की महापौर सत्या शर्मा ने कहा कि हम हड़ताल को खत्म करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने दिल्ली सरकार पर निगम के फंड को लेकर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार जानबूझ कर निगम में आर्थिक संकट पैदा कर रही है।

वहीं उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने निगम के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि सरकार निगम को पर्याप्त फंड जारी कर रही है। उन्होंने निगम नेताओं पर फंड में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए कहा कि निगम नेता जानबूझ कर पैसे की तंगी का हवाला देकर सफाईकर्मचारियों का वेतन रोक रहे हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार द्वारा आवंटित फंड निगम कहां खर्च कर रहा है उनकी समझ से परे है।