सरकारी कागजों में हो गया शौचालय का निर्माण

बलरामपुर। केन्द्र में जोरों-शोरों से आई BJP की मोदी सरकार ने जनता से किए अपने सबसे बड़े वादे को पूरा तो कर रही है पर पूर्ण रुप से खरा नही उतर पा रही है। तथा सरकार के बैठे आला अधिकारीयों शिकायत सुनने को तैयार ही नही है। जो की मोदी सरकार का सबसे बड़ा लक्ष्य स्वच्छता अभियान को शुरु करने और उसे सफलता पूर्वक पूरा करना व घर-घर में शौचालयों का निर्माण कराने का लक्ष्य है। साथ ही जबकी बैठे ग्रामों के आला प्रधानों के पास शौचालयों के निर्माण का पैसा भी उनके बैंक एकाउन्टों में पहुंच चुका है।

construction, toilets, done, government, papers, crime, narander modi, yogi aditya nath
Construction

केन्द्र की मोदी सरकार तथा यूपी की योगी सरकार के तमाम प्रयासों के बावजूद स्वच्छता अभियान धरातल पर दिखाई नहीं दे रहा है। कागजों में खानापूर्ति करके दिखाई जा रही है। जबकि धरातल पर नतीजे कुछ और ही हैं ताजा मामला जनपद बलरामपुर के विकास खंड सदर के ग्राम सोनार का है जिसे अभी हाल ही में ओडीएफ ग्राम घोषित किया गया है। अर्थात इस गांव में शत-प्रतिशत घरों में शौचालय बन चुके हैं इस गांव का स्थलीय निरीक्षण किया गया तो हकीकत कुछ और सामने आई है।

construction, toilets, done, government, papers, crime, narander modi, yogi aditya nath
Construction

अभी लगभग 20% घरों में शौचालय नहीं बने और जो शौचालय बने भी हैं उनका उपयोग भी लोग नहीं कर रहे हैं जिसका कारण शौचालयों के सही निर्माण ना होना बताया जा रहा है। शौचालय निर्माण के नाम पर इस गांव में काफी हेरा-फेरी की गई है। स्थानीय लोगों की माने तो गांव के सभी शौचालय ग्राम प्रधान द्वारा बनवाए गए हैं जो मानकों के अनुरूप नहीं बनवाए गए हैं। जिला प्रशासन इस सोनार गांव में शत-प्रतिशत शौचालय बनाने की रिपोर्ट भी शासन को भेज चुका है परंतु हकीकत कुछ अलग है। मुख्य विकास अधिकारी प्रह्लाद सिंह का कहना है कि मामले की जांच कराई जाएगी और जिन घरों में अभी तक शौचालय निर्माण नहीं हुआ है उसमें तत्काल शौचालयों का निर्माण कराया जाएगा।