कांग्रेसियों ने इंदु सरकार को लेकर मचाया उत्पात, पुणे में समारोह रद्द

मुंबई । मधुर भंडारकर अपनी नई फिल्म ‘इंदु सरकार’ को लेकर जहां एक तरफ सेंसर बोर्ड से उलझे हुए हैं, तो दूसरी ओर, कांग्रेसी नेता भी उनके लिए सरदर्द बनते जा रहे हैं। शनिवार को अपनी फिल्म के प्रमोशन के लिए पुणे पंहुचे मधुर भंडारकर के विरुद्ध कांग्रेसियों ने उत्पात मचाया। जिसके चलते मधुर की फिल्म का समारोह रद्द करना पड़ा।

Congress, protest, Indu Sarkar, Censor board, Madhur Bhandarkar
protest against Indu Sarkar

बता दें कि कांग्रेसी नेताओं का आरोप है कि इस फिल्म में उनकी पार्टी की नेता इंदिरा गांधी और दूसरे नेताओं की छवि को धूमिल किया गया है। मधुर और उनकी फिल्म के टीम पुणे के जिस होटल में रुके हुए थे, कांग्रेस के स्थानीय नेता वहीं जमा हो गए और मधुर तथा उनकी फिल्म के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। माहौल को बिगड़ता देख होटल प्रशासन ने पुलिस को बुलाया। पुलिस ने व्यवस्था संभालने की कोशिश की, लेकिन जब कांग्रेसी नेताओं का उत्पात बंद नहीं हुआ, तो मधुर को अपनी फिल्म का समारोह रद्द करना पड़ा। इस उत्पात से दुखी मधुर ने सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें शेयर करते हुए अपना दुख इन शब्दों के साथ जाहिर किया कि अभिव्यक्ति की आजादी की दुहाई करने वाले लोग मेरी फिल्म के रिलीज में बाधा बनने की कोशिश कर रहे हैं।

वहीं मुंबई कांग्रेस के नेता संजय निरुपम ने हाल ही में सेंसर बोर्ड के चेयरमैन पहलाज निहलानी को पत्र लिखा था कि फिल्म को सेंसर किए जाने से पहले उनकी पार्टी के नेताओं को दिखाई जाए, लेकिन पहलाज ने इस मांग से सेंसर बोर्ड को अलग कर लिया और मधुर ने इस मांग को सिरे से खारिज कर दिया था। कांग्रेस के कुछ नेता यहां तक धमकी दे चुके हैं, कि मधुर की फिल्म के खिलाफ अदालत में मामला दर्ज कराया जाएगा।