मोदी के रमजान वाले बयान पर चुनाव आयोग पहुंचा विपक्ष

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के चुनावी माहौल में सभी पार्टियां एक दूसरे पर कटाक्ष करने में लगी हुई हैं। भाजपा के स्टार प्रचारक और पीएम मोदी ने भी रविवार को एक जनसभा को संबोधित किया। रविवार को फतेहपुर में रैली के दौरान मोदी ने सत्तारूढ़ पार्टी समाजवादी पर कटाक्ष करते हुए कई बार ‘कब्रिस्तान, श्मशान, ईद, दिवाली’ का जिक्र किया। मोदी द्वारा दिए गए इन शब्दों का इस्तेमाल को लेकर कांग्रेस चुनाव आयोग पहुंच गई है।

कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने चुनाव आयोग में शिकायत करते हुए कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी ने धार्मिक भावनाओं को चुनावी मुद्दों की शक्ल देकर चुनाव आयोग के आदर्श आचार संहिता का खुला उल्लंघन किया है।

चुनाव आयोग से शिकायत करने के बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए कांग्रेस के विधि प्रकोष्ठ के प्रभारी के.सी. मित्तल का कहना है कि फतेहपुर में प्रधानमंत्री मोदी के भाषण की वीडियो क्लिप भी जनमत को बांटने और गोलबंद करने की कोशिश है। धार्मिक भावनाओं को चुनाव आयोग को इस बाबत फ़ौरन कार्रवाई करनी चाहिए।

लालू ने किया ट्विट

एक तरफ कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने इस मसले को चुनाव आयोग के सामने रखा है तो दूसरी तरफ राजद प्रमुख ने सोशल मीडिया पर अपना गुस्सा जाहिर किया। राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने ट्विटर पर लिखा, ‘ये तो तानाशाह प्रधानमंत्री है। देश के टुकड़े-टुकड़े कर तबाह कर देगा। जनाब आप PM हो, इतनी ओछी, छोटी और खोटी बातें नहीं करनी चाहिए।’

 

क्या बोले थे मोदी

गौरतलब है कि रविवार को रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा था, ‘धर्म के आधार पर किसी के साथ भेदभाव नहीं होना चाहिए। सबका साथ, सबका विकास के मंत्र के साथ मैं आप से आशीर्वाद लेने आया हूं। गांव में कब्रिस्तान बनता है तो श्मशान भी बनना चाहिए। रमजान में बिजली आती है तो दिवाली में भी आनी चाहिए।’ मोदी के इस बयान के बाद विपक्ष भड़क गया है।