मंदसौर के किसानों को भड़काने के आरोप में कांग्रेस नेता गिरफ्तार

मंदसौर। दलौदा में पांच जून को हुई हिंसा को लेकर किसानों को भड़काने के मामले में पुलिस ने शनिवार को सुबह एक युवक को पकड़ा है। आरोपी ने फेसबुक और वाट्सअप के माध्यम से लोगों को भड़काऊ मैसेज भेजे और शासकीय संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के लिए उकसाया। आरोपी ने फेसबुक और वाट्सएप पर खुद का परिचय इंडियन यूथ कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष रतलाम के रूप में दिया है। हालांकि रतलाम यूथ कांग्रेस विस अध्यक्ष युवक को कांग्रेस कार्यकर्ता स्वीकार करते हुए उपाध्यक्ष होने से इनकार कर रहे हैं।

बता दें कि एसडीओपी ग्रामीण और प्रभारी सीएसपी राकेश मोहन शुक्ला ने बताया कि आरोपी रतलाम जिले के रणायरा निवासी श्याम पिता मोहनसिंह गुर्जर को मंदसौर महाराणा प्रताप चौराहा से पकड़ा गया है। सोशल मीडिया के माध्यम से उसने लोगों को पटरियां उखाड़ने, वाहनों में आग लगाने और सांची डेयरी में रखा चालीस लीटर दूध जलाने के लिए उकसाया था। यूथ कांग्रेस विस अध्यक्ष पंकज चौरड़िया ने बताया कि कांग्रेस में पदाधिकारियों का चुनाव मतदान पद्धति से होता है। श्याम कांग्रेस कार्यकर्ता है, वह जिला उपाध्यक्ष नहीं है।

5 जून को मंदसौर में झगड़ा शुरू हुआ जिसने धीरे-धीरे हिंसा का रूप धारण कर लिया। मध्य प्रदेश में किसान अपनी मांगों को लेकर सड़क पर उतर कर प्रदर्शन कर रहे थे। प्रदर्शन के दौरान मंदसौर जिले में मंगलवार (छह जून) कोकी गोली से पांच लोग मारे गए थे। मरने वाले में एक 19 वर्षीय लड़का भी था जो 12वीं का छात्र था। मरने वाले में एक 23 वर्षीय युवक भी था जिसकी दो महीने पहले ही शादी हुई थी और वो सेना में भर्ती होना चाहता था। एक 30 वर्षीय व्यक्ति दिहाड़ी मजदूर था। बाकी दो अपनी खेती करते हैं, लेकिन उनके पास अपनी कोई जमीन नहीं थी। जिसको लेकर झगड़ा हुआ और झगड़ा इतना बढ़ गया कि हिंसा में बदल गया।