किसानों की समस्याओं पर कांग्रेस ने बीजेपी को लिया आड़े हाथों

देहरादून। उत्तराखंड में किसानों की समस्या को आधार बनाकर एक बार फिर से कांग्रेस बीजेपी को घेरती हुई नजर आ रही है। किसानों की समस्याओं को लेकर कांग्रेस ने गांधी पार्क के सामने प्रदेश सरकार के खिलाफ धरना दिया। इस मौके पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा के नेताओं ने जनता से वादा किया था कि उत्तराखंड में डबल इंजन की सरकार बनेगी।

उन्होंने कहा कि बीजेपी द्वारा किसानों को कई सारे वायदे किए गए थे। लेकिन वक्त बीतते बीतते वह सारे वायदे आसमान से जमीन पर उतरने के बजाए उड़ते ही रहे हैं। उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी ने किसानों को ब्याजरहित खाद देने का आश्वासन भी दिया, लेकिन आज नौबत तो यह आ गई है कि किसान आत्महत्या करने को मजबूर हो रहा है। उन्होंने कहा कि किसानों के बुरे वक्त में कांग्रेस किसानों के साथ खड़ी हुई है। उन्होंने कहा कि अगर किसानों पर अत्याचार होगा तो उसका जवाब दिया जाएगा।

प्रीतम सिंह ने कहा कि भाजपा को अंदर किसानों के प्रति थोड़ा भी दर्द है तो उनका ऋण माफ कर देने चाहिए। किसान को उसकी उपज का पूरा भुगतान नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि मातृशक्ति आज शराब के खिलाफ आंदोलन कर रही है तो सरकार शराब माफिया को संरक्षण देने का काम कर रही है। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने इस मौके पर कहा कि यह आंदोलन अन्नदाता के लिए है। देश का सबसे महत्वपूर्ण व्यक्ति अन्नदाता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के उपर कलंक लगा है। यहां किसान ने आत्महत्या की है।  रावत ने कहा कि उत्तराखंड में किसान ने एक हफ्ते का समय मांगा, लेकिन उसे पांच दिन का समय दिया गया। उससे कहा गया कि अगर पैसा जमा न किया तो उसकी जमीन छीन ली जाएगी। उन्होंने कहा कि अमित शाह ने हल्द्वानी, रुद्रपुर में पीएम मोदी ने बड़े लच्छेदार अंदाज में कहा था कि भाजपा की सरकार लाओ और कर्ज माफ करेंगे। ये वादा भी हवाई साबित हुआ।