नेता खुलेआम उड़ा रहे आचार सहिंता की धज्जियां, प्रशासन मूक

फतेहपुर। फतेहपुर के जहानाबाद कस्बे में मकर संक्रांति के पर्व की आड़ में बीजेपी ने फिर राम मंदिर मुद्दे के मामले को तूल पकड़ा दिया है। बीएचपी एवं बजरंग दल के जुलूस में प्रशासन व पुलिस बल मौजूद होने के बावजूद भी टूटी आचार संहिता का उल्लंघन खुलेआम देखने को मिल रहा है।

फतेहपुर में शनिवार को निकाले गए जुलूस में बीएचपी बजरंग दल के नेताओ के साथ बीजेपी के नेता भी भारी संख्या में उपस्थित हुए। साथ ही बीजेपी सदर विधायक विक्रम सिंह एवं पूर्व विधायक और जहानाबाद के बीजेपी संभावित उम्मीदवार आदित्य पांडेय समेत तमाम नेता शामिल हुए। राममंदिर मुद्दे में तो सदर बीजेपी विधायक ने तो बड़ी बेबाकी से बातचीत में राममंदिर के बारे में अपनी प्रतिक्रिया व्यक्क्त कर दी।

पिछले साल इसी जुलूस में हुई थी दो समुदायों के बीच भारी हिंसा पर भी बोलते हुए कहा कि कुछ लोग राजनैतिक रोटियां सेक रहे थे। फिलहाल चुनाव के वक्त निकले गये इस जुलुस में वो सब कुछ हुआ जो आचार संहिता के उल्लंघन के लिए पर्याप्त था लेकिन जिला प्राशासन से लेकर पुलिस तक के जिम्मेदार अफसर ये सब सुनते रहे और देखते रहे। वहीं, जब इस मामले में भारत खबर के संवाददाता मुमताज इसरार ने अपर जिलाधिकारी से बातचीत की तो उन्होंने आचार सहिंता का उल्लंघन की बात को सिरे से खारिज कर दिया।

मुमताज इसरार, संवाददाता