कुकरैल को किया जाएगा पर्यटन स्थल के रूप में विकसित: सीएम योगी

 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को राजधानी लखनऊ में ‘वन महोत्सव’ और ‘स्कूल चलो अभियान’ की शुरुआत की। पिकनिक स्पॉट (कुकरैल) के जरहरा वनखंड में सीएम ने आठ फीट का बरगद लगाकर वन महोत्सव का शुभारंभ कर वन विभाग पर आधारित पुस्तिका धार्मिक वाटिकाएं का विमोचन किया। सीएम योगी ने वृक्षारोपण अभि‍यान के साथ ‘खूब पढ़ो, आगे बढ़ो’ के नारे को लेकर ‘स्कूल चलो अभियान’ की भी शुरुआत की। इस मौके पर उन्होंने नौनिहालों को स्कूल बैग, यूनिफॉर्म और किताबें वितरित कीं। सीएम ने कहा, ‘प्रदेश में इको टूरिज्म में अपार संभावनाएं हैं। तीन साल में कुकरैल क्षेत्र को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा।

बता दें कि इस दौरान योगी ने कहा कि मुझे खुशी है कि वन विभाग और बेसिक शिक्षा की तरफ से एक साथ दो कार्यक्रम हो रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि वन महोत्सव पर प्रदेश में वन विभाग द्वारा लगभग 4.5 करोड़ पौधे लगाने का प्रावधान है। प्रदेश सरकार के विभिन्न विभागों द्वारा भी वृक्षारोपण का कार्यक्रम चलेगा। पूरे सीजन में छह करोड़ 55 लाख पौधे लगाने की योजना है। यह यूपी में पर्यावरण को बढ़ावा देने के लिए सकारात्मक पहल है।’ योगी ने कहा, ‘वन विभाग पांच जुलाई को गंगा के किनारे स्थित 27 जिलों में वृक्षारोपण का अभियान शुरू करेगा। मैं खुद भी उस दिन गढ़मुख्तेश्वर में जाकर वृक्षारोपण कर इस अभियान में योगदान दूंगा।

साथ ही सीएम का कहना है कि प्रदेश में इको टूरिज्म में अपार संभावनाएं हैं। तीन साल में कुकरैल क्षेत्र को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। लखनऊ आने वाले पर्यटकों को कुकरैल लुभाएगा।’ उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है कि अकसर प्रधानमंत्री कहते हैं कि ‘अधिक वन लगाओ।’ वह पर्यावरण के प्रति जागरूकता की प्रेरणा देते हैं। सीएम ने कहा, वन विभाग ‘जन्मदिन, पुण्यतिथि, मैरिज एनीवर्सरी पर पौधे लगाने के लिए लोगों को प्रेरति करें।

वहीं मुख्यमंत्री ने ‘स्कूल चलो अभियान’ के बारे में कहा, ‘यूपी के अंदर पूरे जुलाई माह में कोई बच्चा स्कूल जाने से वंचित न रह जाए। योगी ने बच्चों को यूनीफॉर्म, बैग और उसके अंदर किताबें रखकर दीं। उन्होंने कहा कि पहली बार लगा कि गरीब का बच्चा भी कॉन्वेंट के बच्चों की तरह अच्छी यूनिफार्म और बैग लेकर स्कूल जा सकता है।

इतना ही नहीं सीएम ने कहा कि 6 से 14 साल का कोई भी बच्चा पढ़ाई से वंचति न रहे। इसके लिए बेसिक शिक्षा विभाग अभियान चलाए। हम सुनिश्चित करेंगे कि बच्चों को बैग, बुक्स, ड्रेस और जूते-मोजे सब मिल जाए। सीएम ने कहा कि 1.52 करोड़ छात्र-छात्राएं स्कूलों में पढ़ रहे हैं। जो बच्चे अभी तक स्कूल नहीं जा रहे उन्हें भी स्कूल जाने के लिए प्रेरित करेंगे। उन्होंने कहा कि हर गांव और शहर में ‘स्कूल चलो अभियान’ चलना चाहिए। स्कूल चलो अभियान के तहत पहले ही दिन 200 बच्चों को पढ़ाई की सामग्री दी गई है। इस दौरान डिप्टी सीएम केशव मौर्या, वन मंत्री दारा सिंह, उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा, सूर्य प्रताप शाही, अनुपमा जायसवाल, मोहसिन रजा, स्वतंत्र देव, रीता बहुगुणा जोशी, स्वाति सिंह, आशुतोष टंडन आदि मौजूद रहे।