फिर पटरी से उतरे रेलगाड़ी के डिब्बे, आगरा कासगंज रूट प्रभावित

आगरा। पटरी से ट्रोनों के उतरने का सिलसिला अभी खत्म नहीं रूका है आगरा के अछनेरा स्टेशन से होते हुए बुधवार सुबह मथुरा की ओर आ रही एक माल गाड़ी के तीन डिब्बे पटरी से उतर गए। इससे आगरा कासगंज मार्ग अवरूद्ध हो गया है। कोटा से आने वाली गाड़ियों के रूट को बदला गया। इस घटना से रेल अधिकारियों में हड़कंप मच गया। घटना की जानकारी मिलते ही अधिकारी मौके पर पहुंचे जहां उन्हें रेल की पटर टूटी हुई मिली।

train derail
train derail

बता दें कि राजस्थान के बनास से लखनऊ के मोहनलालगंज सीमेंट लेकर जा रही मालगाड़ी के 3 डिब्बे सुबह 6:30 बजे पटरी से उतरे । उतरे डिब्बो ने मथुरा अछनेरा सेक्शन पर धौली प्याऊ गेट नंबर 358 के पास 100 से अधिक स्लीपर और पटरी तोड़ दी। मथुरा-अछनेरा सेक्शन बंद हो गया। सुबह के समय इस रूट पर चलने वाली चार पैसेंजर ट्रेनें नहीं आ सकी। सुबह सवा 8:00 बजे आगरा से एक्सीडेंट रिलीफ ट्रेन आई और पटरी काटकर लाइन सही करने, सीमेंट को खाली करने का काम शुरू हो सका। आगरा से परिचालन प्रबंधक रेलवे इंजीनियर व अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे।

वहीं मालगाड़ी के 10,11 और 12 नम्बर के तीन डब्बे पटरी से उतर गए। तेज आवाज के साथ पटरी से उतरे डब्बे आपस मे लड़ कर पिचक गए हैं। एडीआरएम डीके सिंह समेत रेलवे के आला अधिकारी पहुंच गए हैं। दुर्घटना से भले ही कोई हताहत न हुआ हो, पर पटरी टूटी होने से रेलवे की बड़ी लापरवाही सामने आई है। इस दुर्घटना से प्लेटफार्म नम्बर 7,8 और 9 कि लाइन प्रभावित हुई है। इस रूट पर थोड़ी थोड़ी देर में लगातार पैसेंजर और एक्सप्रेस ट्रेन गुजरती है। अगर मालगाड़ी से पहले कोई सवारी गाड़ी निकल जाती तो संभावित हादसे की सोच कर ही यात्रियो के अंदर सिहरन पैदा हो रही है।

साथ ही मौके पर पहुंचे एडीआरएम डीके सिंह के मुताबिक प्रथम दृष्टया पटरी टूटने की वजह से हादसा होने की बात सामने आई है।हम मामले की जांच कर रहे हैं। ट्रेक दोबारा शुरू कराए जाने के लिए रेलवे काम कर रहा है।