गोरखपुर कांड पर बोले सीएम योगी, ‘सही तथ्यों को रखने से होगी मानवता की सेवा’

यूपी के गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के कारण हुए 30 बच्चों की मौत ने अपना सियासी रंग दिखाना शुरू कर दिया है। विपक्ष की तरफ से बीजेपी को चारों तरफ से घेरा जा रहा है। ऐसे में एक बार फिर से योगी सरकार विवादों के कटघरे में खड़ी हो गई है। विपक्षी चाहे कांग्रेसी हो या सपा और बसपा हो। लगातार बीजेपी की निंदा की जा रही है। जहां एक तरफ कांग्रेसी नेता सीएम योगी का इस्तीफा मांग रहे है तो सपा से अखिलेश यादव पीड़ितों के मुआवजे की मांग कर रहे है तो दूसरी तरफ बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा है इस घटना के बाद बीजेपी की जितनी भी निंदा की जाए उतनी कम है। इस सब को देखते हुए सूबे के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई और कहा कि इस घटना में बच्चों की मौत अलग अलग कारणों से हुई है। तो वही अब खुद सीएम योगी ने आपात प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई है।

सीएम योगी द्वारा कही गई महत्वपूर्ण बातें-

तथ्यों को मीडिया सही तरह से पेश करें

बच्चों की मौत से पीएम चिंतित

पीएम मोदी ने मंत्रियों की टीम को गोरखपुर भेजा

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव भी गोरखपुर पहुंचे

मैंने दो बार बीआरडी का दौरा किया है

इंसेफ्लाइटिस से लड़ते रहेंगे

हमारे मंत्रियों ने गोरखपुर जाकर तथ्य जमा किए

सही तथ्यों को रखने से होगी मानवता की सेवा

ऑक्सीजन की कमी के कारण मौत जघन्य कृत्य है

मौत के आंकड़े अलग अलग दिन के हैं

कुछ कार्रवाई हुई हैं बाकि दोषियों को भी नहीं छोड़ा जाएगा

ऑक्सीजन सप्लायर की भूमिका की होगी जांच

पीड़ित परिवार वालों से संवेदना

इंसेफ्लाइटिस से लड़ना एक चुनौती है

ऑक्सीजन की कमी मामले में होगी जांच

इंसेफ्लाइटिस इस मौसम में उभरता है

मरने वाले एक एक बच्चे के साथ हमारी संवेदना

बीआरडी में मुफ्त इलाज की व्यवस्था है

10 अगस्त को 23 मौते हुई हैं

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल 

पीएम मोदी ने मुझे विशेष तौर पर बीआरडी जाने के लिए कहा है

भारत सरकार के स्वास्थ्य सचिव गोरखपुर में मौजूद हैं

बच्चों की मौत से पीएम काफी दुखी हैं

मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल को सस्पेंड किया गया है

जो भी दोषी होगा उसपर सख्त कार्रवाई की जाएगी

स्वास्थ्य मंत्रालय हर जरूरी मदद मुहैया कराएगा

 

स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह 

एक भी बच्चे की मौत संवेदनशील

हमारी सरकार संवेदनशील सरकार है

कार्रवाई करने के लिए आंकड़े रखने जरूरी

23 बच्चों की मौत हुई है

पहली मौत को 3.30 बजे हुई थी

दूसरे बच्चे की मौत 3.45 बजे हुई है

2016 के अगस्त में 587 बच्चों की मौत हुई है

2015 अगस्त में 668 बच्चे की मौत हुई है

हम आंकड़ों से तुलना नहीं कर रहे हैं