सीएम रावत ने दिया नैनीताल को 450 करोड़ की योजना का तोहफा

नैनीताल। मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार सरोवर नगरी पहुंचे मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने जनपद नैनीताल को करोड़ो की सौगाते दी। यातायात को सुगम बनाने के लिए हल्द्वानी में 400 करोड़ की लागत से रिंग रोड का निर्माण, नैनीताल शहर में 50 करोड की लागत से 800 वाहनों की क्षमता वाला सुविधायुक्त बहुमंजिली पार्किंग का निर्माण की घोषणा की।

साथ ही मैग्ना पशुआहार न्यूट्रीशन पर पशुपालको को 50 रुपये सब्सिडी(पांच किलो के बैग पर) दिए जाने की भी बात कही। मुख्यमंत्री रावत ने अपने सम्बोधन में कहा कि उत्तराखण्ड के कुमायूं में प्रकृति का अनुपम सौन्दर्य सहित अनेकों पर्यटन स्थल हैं, हल्द्वानी कुमायूं का प्रवेश द्वार है। कुमायूं की जनता व पर्यटकों को हल्द्वानी से होकर गुजरना होता है, इसलिए यातायात को सुगम बनाने हेतु हल्द्वानी में 400(चार सौ) करोड़ की लागत से रिंग रोड का निर्माण, नैनीताल शहर में 50(पचास) करोड की लागत से 800 वाहनों की क्षमता वाला सुविधायुक्त बहुमंजिली पार्किंग का निर्माण की घोषणा की।

उन्होंने कहा कि सहकारी डेरी फेडरेशन द्वारा पशुआहार में पहले प्रयोग किए जाने वाले यूरिया के स्थान पर मैग्ना प्रयोग किया जाएगा, जिससे और शुद्ध दूध मिल सकेगा। इस पशुआहार न्यूट्रीशन को 01 मई से सब्सिडी प्रदान करते हुए 50(पचास) रुपये कम पर पशुपालकों को मुहैया कराए जाने की घोषणा भी की, जिससे लगभग 01 लाख 55 हजार पशुपालकों को लाभ मिलेगा।

मुख्यमंत्री रावत ने नैनी झील के गिरते जलस्तर पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि झील के गिरते जलस्तर का परीक्षण नीरी समिति द्वारा कराया जाएगा। आगे बोलते हुए रावत ने कहा कि नैनी झील को जिंदा रखने के लिए राज्य सरकार तत्पर है और हर दिशा में प्रयास कर रही है।

 आशु दास