सीएम रमन सिंह ने किया महाराणा प्रताप की प्रतिमा का अनावरण

रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि महाराणा प्रताप की जीवनगाथा आज भी देश और समाज के लिए प्रेरणादायक है। महाराणा प्रताप ने राष्ट्र की आजादी की रक्षा के लिए तलवार के जरिए संघर्ष किया था। आज के समय में हम सबको देश की तरक्की के लिए शिक्षा और कौशल जैसे हथियारों के जरिए आगे बढ़ने की जरूरत है।

बता दें कि मुख्यमंत्री ने रविवार की शाम यहां महाराणा प्रताप के प्रतिमा अनावरण और स्वर्गीय ठाकुर विघ्नहरण सिंह की स्मृति में निर्मित राजपूत भवन का लोकार्पण करते हुए इस आशय के विचार व्यक्त किए। उन्होंने टाटीबंध चौक में महाराणा प्रताप की प्रतिमा का अनावरण किया। कार्यक्रम का आयोजन अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा और राजपूत निःस्वार्थ सेवा संघ द्वारा संयुक्त रूप से किया गया। डॉ. सिंह ने इस मौके पर निकटवर्ती ग्राम सरोना में निर्मित राजपूत भवन का भी लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने सरोना में आयोजित समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा – यह ऐतिहासिक अवसर है, जब हमारे देश के महानायक और महान योद्धा महाराणा प्रताप की विशाल प्रतिमा यहां पर स्थापित की गई है।

वहीं डॉ. सिंह ने कहा-यह प्रतिमा न सिर्फ छत्तीसगढ़ नहीं बल्कि पूरे देश के लिए प्रेरणादायक होगी। यह उन दिनों की याद दिलाएगी, जब महाराणा प्रताप ने 12 वर्ष तक मुगलों के खिलाफ संघर्ष किया और मृत्यु पर्यंत उनके आगे अपना सिर नहीं झुकाया। महाराणा प्रताप की सेना में सभी समाजों के 20 हजार लोग सैनिक के रूप में शामिल थे। महाराणा प्रताप ने उनका नेतृत्व किया और तमाम कष्ट सहते हुए संघर्ष के पथ पर आगे बढ़ते रहे। उन्होंने कभी समझौता नहीं किया। उनकी जीवनगाथा देश और समाज के लिए प्रेरणादायक है।

साथ ही डॉ. सिंह ने कहा – महाराणा प्रताप ने तलवार के जरिए अपने देश की आजादी के लिए संघर्ष किया था। आज हमारे पास कौशल और शिक्षा का हथियार है, जिनकी सहायता से पूरे देश और प्रदेश को तरक्की की राह पर आगे बढ़ा सकते हैं। डॉ. सिंह ने कहा कि जिस उद्देश्य को लेकर स्वर्गीय ठाकुर विघ्नहरण सिंह ने इस राजपूत समाज की इस भवन की कल्पना की थी, वह आज साकार हो गया। यह भवन सभी के लिए उपयोगी होगा।

इतना ही नहीं विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल ने कहा कि आज का दिन स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा। महाराणा प्रताप ने मातृभूमि के लिए लड़ते हुए अपने प्राणों का भी न्यौछावर कर दिया। हम सब उन्हें नमन करते हैं। कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि आज का दिन बड़ा गौरवशाली है, क्योंकि गुरु पूर्णिमा के अवसर पर देश के महानायक महाराणा प्रताप की मूर्ति राजधानी के महत्वपूर्ण स्थान पर स्थापित की गई है। इस प्रतिमा से पूरे युवाओं को प्रेरणा मिलेगी। आज हमें जीने की आवश्यकता है, ताकि देश के लिए हम सब कुछ योगदान कर सके।

इस अवसर पर नेताप्रतिपक्ष टी.एस. सिंहदेव, सांसद और उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री जगदम्बिका पाल तथा सांसद और अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष हरिवंश सिंह ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम में लोक निर्माण मंत्री राजेश मूणत, लोकसभा सांसद अभिषेक सिंह, राज्य सभा सांसद रणविजय सिंह जूदेव, संसदीय सचिव राजू क्षत्रिय, बेमेतरा के विधायक अवधेश चंदेल, महापौर प्रमोद दुबे, मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी वीणा सिंह और युवा आयोग के अध्यक्ष कमलचंद्र भंजदेव भी उपस्थित रहे। उनके अलावा राजपूत क्षत्रिय महासभा के अध्यक्ष ठाकुर होरीसिंह डौड, राजपूत निःस्वार्थ सेवा संघ महिला प्रकोष्ठ की अध्यक्ष इला कल्चुरी और अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के छत्तीसगढ़ प्रदेश अध्यक्ष अवधेश सिंह गौतम भी मौजूद रहे।