भारत द्वारा लंबी दूरी के बिलिस्टिक मिसाइल परीक्षण को लेकर भड़का चीन

नई दिल्ली। भारत के द्वारा लंबी दूरी के बिलिस्टिक मिसाइलों अग्नि-4 और 5 के परीक्षण को लेकर चीनी मीडिया में खलबलाहट देखी जा सकती है। चीनी अखबार ने भारत द्वारा किए गए इन परीक्षणों की आलोचना करते हुए कहा है कि भारत ने परमाणु हथियारों और लंबी दूरी की मिसाइलों पर लगाई गईं सीमाएं ‘तोड़ी’ हैं। इसके साथ ही चीन ने पाकिस्तान का पक्ष लेते हुए कहा है कि अगर भारत ने इस प्रकार का परीक्षण किया है तो पाकिस्तान को भी इसी तरह का विशेषाधिकार मिलना चाहिए।

कम्युनिस्ट पार्टी के एक अखबर ने अपने संपादकीय में लिखा है कि कि भारत ने संयुक्त राष्ट्र की सीमाओं का उल्लंघन करते हुए परमाणु हथियारों और लंबी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया है, इसके साथ ही उसमें लिखा गया है कि कई अन्य देशों जैसे अमेरिका और कुछ पश्चिमी देशों ने भी परमाणु की योजनाओं को लेकर अपने नियमों में परिवर्तन किया है। चीनी अखबर ने लिखा है कि भारत ऐेसा इसलिए कर रहा है जिससे वह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्यों की बराबरी में आ सके।

अखबार ने साथ ही इस बात की सफाई भी दी है कि भारत द्वारा उनके विकास लिए उठाया गया कोई भी कदम चीन के लिए खतरा पैदा कर सकता है, इसके साथ ही लिखा गया है कि चीन और भारत दोनों देशों के लिए यह आवश्यक है कि दोनों आपस में दोस्ती को और बढ़ाएं। अखबार ने साथ ही लिखा है कि अगर लंबी दूरी के इन अंतरमहाद्वीपीय बलिस्टिक मिसाइलों के परीक्षण पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को कोई आपत्ति नहीं है, तो ठीक है।