सीएम योगी ने ‘विश्व जनसंख्या दिवस’ पर जन जागरूकता रैली को किया रवाना

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को ‘विश्व जनसंख्या दिवस’’ के मौके पर अपने सरकारी आवास 5 कालीदास मार्ग से एक जन जागरुकता रैली का शुभारम्भ किया। उन्होंने हरी झण्डी दिखाकर इस रैली को रवाना किया। इसमें मोटर साइकिल सवार विभिन्न पैरामेडिकल कालेजों के छात्र-छात्राएं, विविध संस्थाओं के वालेन्टियर और प्रतिनिधियों ने भाग लिया। रैली के शुभारम्भ और समापन स्थल पर एक हस्ताक्षर अभियान भी चलाया जा रहा है। प्रदेश की महिला एवं परिवार कल्याण, मातृ-शिशु कल्याण, पर्यटन मंत्री प्रो. रीता बहुगुणा जोशी ने बताया कि इस पखवाड़े में प्रदेश में परिवार कल्याण कार्यक्रम से जुड़ी गैर सरकारी संस्थाओं को जागरूकता बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित किया जायेगा तथा स्वास्थ्य इकाईयों द्वारा वृहद स्तर पर परिवार नियोजन संबंधी सेवाएं उपलब्ध करायी जायेगी।

बता दें कि उन्होंने भारत सरकार द्वारा लांच प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के बारे में बताया कि गर्भ के समय सही और आवश्यक परीक्षण न हो पाने से सुरक्षित प्रसव की स्थितियां प्रभावित हो जाती हैं और मातृ-शिशु मृत्युदर बढ़ जाती है। उ.प्र. में यह चिंताजनक हैं। इस अभियान के तहत प्रत्येक माह की 09 तारीख को गर्भवती महिलाओं की द्वितीय, तृतीय तिमाही में एक बार विशेषज्ञ अथवा एम.बी.बी.एस. डॉक्टर से निःशुल्क जांच करायी जाएगी। प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के अंतर्गत चेक अप कराने आने वाली महिलाओं का अस्पताल में 6-8 घण्टे लगने वाले समय को ध्यान में रखकर उनके बैठने, पेयजल तथा अल्पाहार उपलब्ध कराने की व्यवस्था स्वास्थ्य केन्द्रों पर की गयी है।

साथ ही उन्होंने बताया कि जो सामुदायिक केन्द्र अधिक प्रसव भार वाले हैं ऐसे 50 केन्द्रों पर पी.पी.पी. मोड से अल्ट्रा साउण्ड की व्यवस्था गर्भवती महिलाओं के लिए की जा रही है। परीक्षण के लिए निजी चिकित्सकों, विशेषज्ञों द्वारा स्वैच्छिक योगदान भी किया जा रहा है। अब तक 470 चिकित्सकों ने इसके लिए पोर्टल पर स्वयं पंजीकरण कराया है तथा 258 द्वारा सेवाएं भी दी गई हैं। कैबिनेट मंत्री ने भारत सरकार द्वारा जारी ‘‘नई पहल’’ योजना के बारे में बताया कि इसके तहत नवविवाहितों को दी जाने वाली किटमें एक जूट का बैग, वैनिटी पाउच, परिवार नियोजन के अस्थाई साधन एवं मार्गदर्शक पुस्तिका तथा नवदम्पति के नाम एक पत्र दिया जायेगा।