सीएम योगी ने कि शहीद पुलिस के परिवार को मिलने वाली राशि दोगुनी

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि शहीद पुलिस वालों के परिवारों को मिलने वाली सहायता राशि को प्रदेश सरकार ने बढ़ाकर दोगुना 40 लाख रूपये कर दिया गया है। लखनऊ के रिजर्व पुलिस लाइन स्थित शहीद स्मृति स्मारक के समक्ष उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, पुलिस महानिदेशक सुलखान सिंह और प्रमुख पुलिस अधिकारियों और गणमान्य लोगों की मौजुदगी में पुलिस स्मृति दिवस के अवसर पर शोक परेड का आयोजन हुआ। वहीं मुख्यमंत्री ने शहीदों के ​परिजनों से भेंट वार्ता की।

cm yogi
cm yogi

बता दें कि पुलिस स्मृति दिवस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश पुलिस के जवानों की शहादत ने मान बढ़ाया। राज्य सरकार सदैव शहीदों के परिजनों के साथ खड़ी है। पुलिस मुठभेड़ में मारे गये शहीदों की याद में आयोजित कार्यक्रम पहुंचकर उन्हें गर्व की अनुभूति हो रही हैं।

वहीं उनका कहना है कि प्रदेश सरकार अपराधमुक्त, भ्रष्टाचारमुक्त प्रदेश बनाने के लिए कटिबद्ध है। प्रदेश को अपराध मुक्त बनाने के लिए उनके कार्यकाल में 545 पुलिस मुठभेड़ हुई। पुलिस मुठभेड़ करते हुए अपने पुलिस जवान शहीद हुए तो 22 इनामी अपराधी मार गिराये गये। जंगलराज को समाप्त करने में थोड़ा वक्त लगेगा। कानून व्यवस्था को कायम करने के लिए कई काम करने बाकि है। ​प्रदेश की जनता की सुख शान्ति के लिए अपराध तंत्र को कमजोर कर के पुलिसराज कायम करना है। अभी तक पुलिस ने अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए प्रभावी कार्य किये है।

साथ ही उत्तर प्रदेश के पुलिसकर्मियों के लिए प्रदेश सरकार कई योजनाओं पर काम कर रही है। प्रदेश के पुलिसकर्मियों के तमाम भत्तें प्रदेश सरकार बढ़ा रही है। पौष्टिक आहार भत्ता, वाहन भत्ता की बहुत समय से पुलिसकर्मियों की ओर से मांग थी, जो प्रदेश सरकार ने मान लिया है। इसी के साथ ही शहीद पुलिसकर्मियों को मिलने वाली सहायता राशि बढ़ाकर दोगुना कर दिया गया है। शहीद के परिजन को प्राप्त होने वाली राशि को प्रदेश सरकार ने बढ़ा दिया है। पहले यह सहायता राशि 20 लाख रूपये रहीं, जो बढ़कर के 40 लाख रूपये हो गयी है।

पुलिस लाइन में आयोजित शहीद स्मृति दिवस के कार्यक्रम में प्रमुख सचिव, पुलिस महानिदेशक उप्र, पूर्व पुलिस महानिदेशक, अपर पुलिस महानिदेशक कानून व व्यवस्था समेत अन्य गणमान्य अतिथिगण उपस्थित रहें।