मुख्यमंत्री आवास पर हुई बैठक लिए गए कई अहम फैसले

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आवास पर हो रही बैठक में नयी पॉलिसीयों पर चर्चा होगी और बैठक में कई महत्वपूर्ण प्रस्तावों मुहर भी लगायी जा सकती है। जिसमें कई डॉक्टरों की ट्रांसफर पॉलिसी पर भी फैसला भी लिया जा सकता है। धर्मार्थ कार्य की वेबसाइट का शुभारंभ भी किया,पांच कालीदास मार्ग कैलाश मानसरोवर के 94 और 71 यात्रियों को चेक दिया है।

बैठक के दौरान उत्तर प्रदेश और राजस्थान के बीच परिवहन समझौता हुआ साथ ही योगी ने कहा की परिवहन नियमों को पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाया जाए।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सड़क हादसों में होने वाली मौतों चिंता जताई और कहा परिवहन नियमों को पाठ्यक्रमों में शामिल करने पर भी जोर दिया। योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश और राजस्थान के यातायात नियमों की सामान्य जानकारी ना होने पर दुर्घटनांए होती है। जिसमें रोज 10 से 15 मौत रोज होती है।
2014 में मोदी की सरकार बनने के बाद सभी राज्यों में आपसी सदभाव बढ़ गया है और एक दूसरे के प्रति भावनायें भी बढ़ी है। उन्होंने कहा की उत्तर प्रदेश का हर नागरिक मेवाड की धरती से संबंध जोड लेना चाहता है,और राजस्थान के हर महत्वपूर्ण और सभी धर्मस्थलों पर जाना चाहता है। योगी ने कहा की सरकार का काम लोक कल्याण करना है,सिर्फ अपनी सुविधाओं के लिए काम करना बिल्कुल गलत है।

मुख्यंत्री ने बताया की 84 कोसी परिक्रमा का 54 किलोमीटर का जो क्षेत्र है वो राजस्थान में आता है। जहां वसुन्धरा राजे सरकार उसका विकास कार्य करनें में लगी हुई है। इस दौरान उत्तर प्रदेश सडक परिवहन निगम के अध्यक्ष प्रवीर कुमार ने बोला की ज्यादातर सभी बसों और बस स्टेशनों को नि:शुल्क वाई -फाई से जोड़ दिया जाऐगा। पूरी बैठक के दौरान योगी मंत्रिमंडल के कई मंत्री और परिवहन विभाग के अधिकारी भी मौजूद थे।