भारत के संविधान से बाकि देश लेते हैं प्रेरणाः रावत

बीजापुर। बीजापुर में गृरुवार को गणतंत्र दिवस पर वहां तैनात पीएसी के प्लाटून कमांडर माया राम कण्डवाल ने ध्वजारोहण किया, जिसमें प्रदेश के मुख्यमंत्री हरीश रावत सहित, आवास में तैनात सभी सुरक्षा कर्मी व अन्य गण्मान्य व्यक्तियों ने शिरकत की। कार्यक्रम को संबोधित करते हुएस सीएम हरीश रावत ने कहा कि हमारे संविधान व विकास यात्रा से तमाम देश प्रेरणा ग्रहण करते हैं। हम स्वयं को उस गण के लिए समर्पित करें, जिसके लिए हमारे स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों ने प्राण तक न्यौछावर कर दिए। गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि विश्व में एक लोकतांत्रिक व धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र के रूप में हमारी पहचान है।

उन्होंने कहा कि राज्य की आबादी का बड़ा हिस्सा आत्मनिर्भर है, जो राज्य व राष्ट्र के विकास में निरन्तर योगदान दे रहे हैैं, वर्तमान में राज्य विकास की दौड़ में देश के अग्रर्णीय राज्यों में राज्य के लोगों की अथक प्रयास से शामिल हुआ है। राज्य की अर्थव्यवस्था तेजी से बढ़ रही थी। शिक्षा, महिला सशक्तिकरण सहित सभी क्षेत्रों में राज्य तेजी से आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि गणतंत्र का यह भी अर्थ है जिसमें हर व्यक्ति सक्षम हो। हमें विकास की इस गति को और बढ़ाकर हर क्षेत्र में आगे बढ़ना है, हमारे युवाओं को भी इसमें अपना महत्वपूर्ण योगदान प्रदान करना चाहिए।

मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि गणतंत्र दिवस उन महान मनीषियों को याद करने का अवसर है जिनकी बदौलत हमें लोकतांत्रिक, धर्मनिरपेक्ष राज्य की व्यवस्था मिली। मुख्यमंत्री ने राष्ट्र के विकास के प्रति समर्पित होने का आह्वान करते हुए कहा कि आजादी के बाद हमने विकास की लम्बी यात्रा पूरी की है। हमारा गणतंत्र अन्य देशों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत रहा है। अनेक राष्ट्रनायकों ने सबको साथ लेकर चलने की हमारी नीति को अपनाया है। हमें अपने कर्तव्यों का निष्ठापूर्वक निर्वहन करते हुए प्रयास करना चाहिए कि हमारा तिरंगा इसी शान से फहराता रहे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी की लड़ाई में उत्तराखण्ड के लोगों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। देश की सीमाओं पर व देश के अंदर भी गणतंत्र की रक्षा के लिए सेना, अर्धसैनिक बलों, पुलिस के जवानों ने सर्वोच्च बलिदान दिया है। हम उन सभी को नमन करते हैं। शहीद राज्य आंदोलनकारियों को नमन करते हुए सीएम ने कहा कि सरकार राज्य आंदोलनकारियों की भावना के अनुरूप उत्तराखण्ड के विकास के लिए तत्पर है। उन्होंने कहा कि आने वाले चुनाव में जनता की भागीदारी संसदीय लोकतंत्र कों मजबूत बनाने के लिए आवश्यक है, हम सभी को बढ़-चढ़कर भागीदारी करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि देश ने आजादी के बाद कई कीर्तिमान स्थापित किए है उत्तराखण्ड ने भी हर क्षेत्र में प्रगति की है और मुझे विश्वास है कि राज्य निरन्तर विकास के मार्ग पर आगे बढ़ता रहेगा, रावत ने राज्य निर्माण में संघर्ष में शहीद हुए व तमाम आन्दोलनकारियों को नमन करते हुए कहा कि राज्य के निर्माण में उनका योगदान भुलाया नहीं जा सकता है। बीजापुर में ध्वजारोहण के बाद परेड ग्राउन्ड में आयोजित मुख्य समारोह में मुख्यमंत्री शामिल हुए। जहां उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों व जनता से भेंट की।

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर अपने आवास में उपस्थित सभी लोगों को शपथ दिलाई कि हम भारत के लोग भारत को सम्पूर्ण प्रभुत्व सम्पन्न समाजवादी, धर्म निरपेक्ष, लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए तथा उसके समस्त नागरिकों को सामाजिक, आर्थिक व राजनैतिक प्रतिष्ठा एवं अवसर की समता प्राप्त कराने के लिए तथा उन सब में व्यक्ति की गरिमा और राष्ट्र की एकता और अखण्डता सुनिश्चित कराने तथा बन्धुत्व बढ़ाने के लिए दृढ़ संकल्प होकर अपने को आत्म समर्पित करते हैं