जीएसटी लागू होने से पहले 30 जून को बंद रहेगा छत्तीसगढ़

रायपुर। इस बार के जीएसटी को आजादी के बाद से सबसे बड़ा कर सुधार माना जा रहा है। जीएसटी एक जुलाई को लागू होने जा रहा है। वहीं जीएसटी के प्रावधान के खिलाफ भारत बंद के समर्थन में 30 जून को छत्तीसगढ़ भी बंद रहेगा। छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज के समर्थन मिलने के बाद ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने भी इसका समर्थन दिया है। प्रदेश में 30 जून को व्यापारिक-कारोबारियों की प्रतिष्ठानों के बंद रहने के साथ ट्रकों के पहिए भी थमे रहेंगे।

चेंबर का दावा है कि बंद के आह्वान को खासा समर्थन मिल रहा है। चेंबर के प्रदेश अध्यक्ष अमर पारवानी, चेयरमैन अमर धावना, पूरनलाल अग्रवाल, महामंत्री विनय कुमार बजाज, कार्यकारी महामंत्री जितेन्द्र दोशी, कोषाध्यक्ष अरविंद जैन, उपाध्यक्ष विक्रम सिंहदेव, मंत्री परमानंद जैन ने कहा है कि भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष एवं भाजपा के पूर्व सांसद श्याम बिहारी मिश्र के भारत बंद के आव्हान पर शुक्रवार 30 जून को छत्तीसगढ़ प्रदेश व्यापार बंद को विभिन्न व्यापारिक संघों, जिला एवं नगर इकाइयों से बंद का समर्थन प्राप्त हो रहा है।

प्रदेश के ट्रक ट्रांसपोर्ट संघ चेम्बर के समर्थन में खुलकर सामने आयें हैं। चेम्बर की मांग है कि जीएसटी में व्यापारी को सजा की व्यवस्था समाप्त होनी चाहिये। ई-वे बिल व्यापारी पर लागू न हो। प्रतिमाह रिटर्न के स्थान पर त्रैमासिक रिटर्न हो। विक्रेता यदि जीएसटी जमा नहीं करता है तो खरीदार की जिम्मेदारी न हो। एक सूत्रीय सरल जीएसटी की आवश्यकता जिसमें कर की उच्चतम दर 15 प्रतिशत से ज्यादा नहीं होनी चाहिये।

आनलाइन रिटर्न की बाध्यता समाप्त हो तथा कपड़े, ब्रांडेड अनाज, तिलहन, कृषि यंत्र एवं जीवन की आवश्यक वस्तुएं जीएसटी से मुक्त होनी चाहिये, रिवर्स चार्जेस की समाप्ति, एडवांस राशि मिलने पर जीएसटी अदा करने के प्रावधान की समाप्ति, इंस्पेक्टर राज की वापसी नहीं करने आदि।
इसी प्रकार रायपुर ट्रक ओनर्स एसोसियेशन, राजधानी ट्रांसपोर्ट एसोसियेशन,रायपुर ट्रक ट्रांसपोर्ट एसोसियेशन, छत्तीसगढ़ ट्रक ओनर्स एसोसियेशन, छत्तीसगढ़ ट्रक ओनर्स एसोसियेशन, छत्तीसगढ़ ट्रक मालिक संघ, छत्तीसगढ़ ट्रेलर एसोसियेशन, छत्तीसगढ़ ट्रेलर ट्रांसपोर्ट, छत्तीसगढ़ मेटाडोर परिवहन संघ आदि ने भी बंद का समर्थन किया है।