शतरंज ओलम्पियाड : भारतीय पुरुष, महिला टीमें जीतीं

चेन्नई। अजरबेजान की राजधानी बाकू में चल रहे शतरंज ओलम्पियाड में शनिवार को भारतीय पुरुष और महिला टीमों ने वापसी करते हुए अपने-अपने आठवें राउंड के मुकाबले जीत लिए। भारतीय पुरुष टीम ने इंग्लैंड को 2.5-1.5 से हराया, वहीं भारतीय महिला टीम भी उजबेकिस्तान को इसी स्कोर से हराने में सफल रही। ओपन वर्ग में चेन्नई के ग्रैंड मास्टर एस. पी. सेतुरमन ने ग्रैंड मास्टर निजेल डी. शॉर्ट को हराते हुए भारतीय टीम को विजयी शुरुआत दिलाई। सफेद मोहरों से खेलते हुए सेतुरमन ने स्कॉच ओपनिंग की और छठी चाल तक दोनों ही खिलाड़ी अपने-अपने वजीर बिसात पर आगे बढ़ा चुके थे।

chess

यहां से सेतुरमन ने किलेबंदी मजबूत करनी शुरू कर दी और 19वीं चाल तक आते-आते उन्होंने अपने वजीर को बेहद सुरक्षित कर लिया और राजा वाले छोर से हमला करना शुरू किया। सेतुरमन की ओर से लगातार किलेबंदी के चलते 41वीं चाल में शॉर्ट को हार माननी पड़ी। इसके बाद तीनों भारतीय खिलाड़ियों ने ड्रॉ खेला। टॉप बोर्ड पर 15वीं विश्व वरीयता प्राप्त ग्रैंड मास्टर पी. हरिकृष्ण ने ग्रैंड मास्टर माइकल एडम्स के साथ 58 चालों में मुकाबला ड्रॉ करवा लिया। चेन्नई के ही ग्रैंड मास्टर बी. अधिबान भी ग्रैंड मास्टर डेविड डब्ल्यूएल होवेल से 35 चालों में मुकाबला ड्रॉ करवाने में कामयाब रहे।

विदित संतोष गुजराती और गावेन सी. बी जोंस के बीच भी मैच ड्रॉ रहा। महिला वर्ग में भारतीय टीम भी जीत की पटरी पर लौटने में सफल रही। पांचवीं विश्व वरीयता प्राप्त ग्रैंड मास्टर हरिका द्रोणावल्ली को जीत हासिल करने में खास परेशानी नहीं हुई। उन्होंने काले मोहरों से खेलने के बावजूद 37 चालों में जीत हासिल कर ली। अंतर्राष्ट्रीय मास्टर पद्मिनी राउत दूसरे बोर्ड पर मैच ड्रॉ कराने में सफल रहीं। सौम्या स्वामिनाथन और तानिया सचदेव की जगह टीम में शामिल की गईं प्रत्युषा बोड्डा के भी मुकाबले ड्रॉ रहे। बोड्डा ने बेहद थकाऊ 102 चालों तक खेलने के बाद मैच ड्रॉ करवा लिया।