चेन्नई टेस्ट : भारत ने टी-टाइम तक इंग्लैंड के 4 विकेट चटकाए

चेन्नई। भारत ने एम. ए. चिदंबरम स्टेडियम में चल रहे पांचवें टेस्ट मैच के पांचवें दिन मंगलवार को चायकाल तक इंग्लैंड के 167 रनों पर चार विकेट लेकर अपनी जीत की उम्मीदों को जिंदा रखा है। दिन के पहले सत्र में एक भी विकेट न गंवाने वाली इंग्लैंड की टीम दूसरे सत्र में रवींद्र जडेजा और ईशांत शर्मा की गेंदों के आगे बेबस नजर आई। इस सत्र में चार विकेट गंवाने के बाद अब इंग्लैंड पर एक लिहाज से हार का संकट मंडराने लगा है। दूसरे सत्र का खेल खत्म होने तक मोइन अली (नाबाद 31) और बेन स्टोक्स (नाबाद 13) खेल रहे हैं।

ma

दिन के पहले सत्र में भारतीय गेंदबाज एक भी विकेट नहीं ले पाए थे और इंग्लैंड ने इस सत्र में 85 रन जोड़े। लग रहा था कि इंग्लैंड आसानी से मैच ड्रॉ करा लेगा लेकिन अब उसके लिए ड्रॉ करना आसान नहीं लग रहा है। दूसरे सत्र मे इंग्लैंड ने 70 रन जोड़े और चार विकेट गंवाए। वह अभी भी मेजबानों से 116 रन पीछे है। भोजनकाल तक 97 रन बनाने वाली इंग्लैंड को दूसरे सत्र में अपने खाते में छह रन ही जोड़ पाई थी तभी जडेजा ने कप्तान एलिस्टर कुक (49) को एक और बार अपना शिकार बनाया। कुक छह बार जडेजा का शिकार हो चुके हैं। जडेजा किसी एक सीरीज में कुक को सबसे अधिक बार आउट करने वाले गेंदबाज बन गए हैं।

जडेजा ने 110 रनों के कुल स्कोर पर केटान जेनिंग्स (54) को भी अपना शिकार बना इंग्लैंड को एक और झटका दिया। जडेजा ने जोए रूट (6) को पगबाधा आउट कर इंग्लैंड की पेरशानी को और बढ़ा दिया। रूट 126 के कुल स्कोर पर आउट हुए। तीन रन बाद ईशांत ने जॉनी बेयर्सटो को जडेजा के हाथों कैच करा अपनी टीम को चौथी सफलता दिलाई।

इसके बाद लेकिन अली और स्टोक्स ने कोई और विकेट नहीं गिरने दिया और पांचवें विकेट के लिए 38 रन जोड़ लिए हैं। लगातार विकेट गंवा कर संकट में घिरी इंग्लैंड की ड्रॉ की उम्मीदों को इसी जोड़ी ने कुछ हद तक थामे रखा है। इंग्लैंड ने पहली पारी में मोइन (146), जोए रूट (88), जॉनी बेयरस्टो (49), डॉसन (नाबाद 66) और राशिद (60) की बदौलत 477 रनों का मजबूत स्कोर खड़ा किया था, जिसके जवाब में भारत ने लोकेश राहुल (199) के बाद करुण नायर (नाबाद 303) की रिकॉर्ड पारियों की बदौलत पांच विकेट पर 759 रनों का रिकॉर्ड स्कोर खड़ा कर पहली पारी घोषित कर दी।

भारत ने जहां टेस्ट इतिहास में एक पारी में सर्वोच्च स्कोर का कीर्तिमान बनाया, वहीं इंग्लैंड के खिलाफ भी यह किसी भी टीम द्वारा खड़ा किया गया सर्वोच्च स्कोर रहा। भारत के लिए राहुल और नायर के अलावा पार्थिव पटेल (71), रविचंद्रन अश्विन (67) और रवींद्र जडेजा (51) ने उपयोगी पारियां खेलीं। पांच मैचों की श्रृंखला का यह आखिरी टेस्ट है। भारत ने पहले ही श्रृंखला 3-0 से बढ़त ले रखी है।