केंद्र और राज्य सरकार कर रही है किसानों की अनदेखीः नसीमुद्दीन सिद्दीकी

बागपत। आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों को देखते हुए सभी पार्टियों ने जमीनी स्तर पर नए सिरे से काम करना शुरू कर दिया है। सोमवार को बागपत के कस्बा टीकरी में आयोजित एक कार्यक्रम में बसपा के राष्ट्रीय महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने शिरकत की। कार्यक्रम में जनता को संबोधित करते हुए सिद्दीकी ने कहा कि केंद्र व प्रदेश की सरकारों ने किसानो मजदूरो की अनदेखी की है जिसके कारण आज स्थिति ये है कि किसान भूखमरी की दहलीज पर खड़ा है।

nasimuddin-siddiquie

उन्होंने कहा कि प्रदेश में भ्र्ष्टाचार, लूट, हत्या, बलात्कार आदि की घटनाए इस कदर बढ़ी है की आम आदमी भय के साये में है। किसान की फसल का वाजिब मूल्य हो या मजदूर का रोजगार सभी पिछड़ता जा रहा है वर्ष 2007 तक किसान के गन्ने का भाव 122 रुपए कुंतल हुआ करता था जो बसपा की सरकार बनी तो 280 रुपए तक पहुंच गया। इसके बाद किसान के गन्ने का भाव इस बार मात्र 40 रुपए की बढ़ोत्तरी कर किसानों को लुभाने का कार्य किया गया। लेकिन किसान भली भांति समझ चुका है कि किसकी सरकार में भला हो सकता है।

बसपा ने किसानो को मूल भाव ही नहीं बकाया ब्याज समेत दिलवाया था केंद्र सरकार पर कहा की मोदी जी ने देश की जनता को लाइन में खड़ा कर दिया है। काले धन के नाम पर गरीब जनता को परेशान किया जा रहा है।प्रधानमंत्री बनने से अब तक तो मोदी जी 70 करोड़ के तो कपड़े ही पहन चुके है। मंचो पर मोदी जी इमोशनल ड्रामा करते है कभी हंसते है कभी रोते तो कभी हथेली पीटना शुरू कर देते है लेकिन जनता भी यह सब जानती है।काले धन के नाम पर देश की गरीब जनता बैंको की लाइन में लगा दी है किसान अपनी फसलो की बुआई तक नहीं कर पा रहे है गरीब जनता अपने ही पैसो के लिए लाइन में लग रही है।

rp_vishal_saharanpur(अजय संवाददाता)